विधायक अलका लांबा ने AAP से इस्तीफा देने का किया एलान

alka
विधायक अलका लांबा ने AAP से इस्तीफा देने का किया एलान

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की विधायक ने बड़ा एलान किया है। अलका लांबा ने रविवार को आम आदमी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने का एलान कर दिया है। अलका लांबा दिसंबर 2018 से आम आदमी पार्टी से नाराज चल रही हैं। जब आप के एक विधायक ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिया गया ‘भारत रत्न’ वापस लेने की मांग वाला एक प्रस्ताव विधानसभा में रखा था।

Alka Lamba Resignation From Primary Membership Of Aam Aadmi Party :

कहा जा रहा है कि अब वह अगला विधानसभा चुनाव निर्दलीय लड़ेंगी। हालांकि, इसे लेकर अलका से संपर्क साधने का प्रयास हुआ। संदेश भेजकर भी उनका स्पष्टीकरण मांगा गया। पर उन्होंने अभी तक इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं की है। वैसे, इस फैसले को अप्रत्याशित माना जा रहा है क्योंकि पार्टी में शीर्ष नेतृत्व से तनातनी के बावजूद उन्होंने कई मौके पर अपना कार्यकाल पूरा करने की बात कहीं थी।

सौरभ भारद्वाज ने साधा अलका लांबा पर निशाना

अलका लांबा के पार्टी छोड़ने वाले बयान पर आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट कर रहा कि वह पहले भी इस तरह की कई बार घोषणाएं कर चुकी हैं। सौरभ ने कहा कि अगर वह पार्टी छोड़ना चाहती हैं तो पार्टी नेतृत्व को इस्तीफा भेंजे। उनका इस्तीफा ट्विटर पर भी स्वीकार कर लिया जाएगा।

अरविन्द पर लगाया उसूलों से भटकने का आरोप

इस्तीफे के बारे में पूछने पर अलका ने अरविन्द केजरीवाल और आप के साथ संबंधों में आई दरार के बारे में बताते हुए कहा ‘पहले आप शीला दीक्षित को भ्रष्ट बताते हैं और फिर 2019 लोकसभा चुनाव के लिए उन्हीं के साथ गठबंधन करना चाहते हैं।’

उन्होंने पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी अपने उसूलों से भटक गयी है। पहले प्रशांत भूषण, शांति भूषण, योगेन्द्र यादव और कुमार विश्वास जैसे लोगों को पार्टी से निकल दिया और अब राजनीति में रहने के लिए वोट बैंक की राजनीति का सहारा लिया जा रहा है।’

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की विधायक ने बड़ा एलान किया है। अलका लांबा ने रविवार को आम आदमी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने का एलान कर दिया है। अलका लांबा दिसंबर 2018 से आम आदमी पार्टी से नाराज चल रही हैं। जब आप के एक विधायक ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिया गया ‘भारत रत्न’ वापस लेने की मांग वाला एक प्रस्ताव विधानसभा में रखा था। कहा जा रहा है कि अब वह अगला विधानसभा चुनाव निर्दलीय लड़ेंगी। हालांकि, इसे लेकर अलका से संपर्क साधने का प्रयास हुआ। संदेश भेजकर भी उनका स्पष्टीकरण मांगा गया। पर उन्होंने अभी तक इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं की है। वैसे, इस फैसले को अप्रत्याशित माना जा रहा है क्योंकि पार्टी में शीर्ष नेतृत्व से तनातनी के बावजूद उन्होंने कई मौके पर अपना कार्यकाल पूरा करने की बात कहीं थी। सौरभ भारद्वाज ने साधा अलका लांबा पर निशाना अलका लांबा के पार्टी छोड़ने वाले बयान पर आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट कर रहा कि वह पहले भी इस तरह की कई बार घोषणाएं कर चुकी हैं। सौरभ ने कहा कि अगर वह पार्टी छोड़ना चाहती हैं तो पार्टी नेतृत्व को इस्तीफा भेंजे। उनका इस्तीफा ट्विटर पर भी स्वीकार कर लिया जाएगा। अरविन्द पर लगाया उसूलों से भटकने का आरोप इस्तीफे के बारे में पूछने पर अलका ने अरविन्द केजरीवाल और आप के साथ संबंधों में आई दरार के बारे में बताते हुए कहा ‘पहले आप शीला दीक्षित को भ्रष्ट बताते हैं और फिर 2019 लोकसभा चुनाव के लिए उन्हीं के साथ गठबंधन करना चाहते हैं।’ उन्होंने पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि पार्टी अपने उसूलों से भटक गयी है। पहले प्रशांत भूषण, शांति भूषण, योगेन्द्र यादव और कुमार विश्वास जैसे लोगों को पार्टी से निकल दिया और अब राजनीति में रहने के लिए वोट बैंक की राजनीति का सहारा लिया जा रहा है।’