संसद के शीतकालीन सत्र से पहले बुलाई गई सर्वदलीय बैठक, विपक्ष ने कहा-आर्थिक मंदी, बेरोजगारी पर हो चर्चा

pm
ससंद के शीतकालीन सत्र से पहले बुलाई गई सर्वदलीय बैठक, विपक्ष ने कहा-आर्थिक मंदी, बेरोजगारी पर हो चर्चा

नई दिल्ली। संसद का शीतकालीन सत्र कल से शुरू हो रहा है। इससे पहले रविवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई गई। इस बैठक में पीएम मोदी ने आश्वासन दिया कि सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है। वहीं, विपक्ष ने इस दौरान फारूक अब्दुल्ला की हिरासत का मुद्दा पुरजोर तरीके से उठाया।

All Party Meeting Convened Before The Winter Session Of Parliament Opposition Said Discussion On Economic Recession Unemployment :

विपक्ष का कहना है कि उन्हें सदन में भाग लेने की अनुमति दी जाए। वहीं, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने बताया कि सरकार द्वारा बुलाई गई बैठक में विपक्ष ने मांग की कि सत्र के दौरान आर्थिक मंदी, बेरोजगारी और कृषि संकट पर चर्चा हो। संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बताया कि बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि संसद का सबसे महत्वपूर्ण काम चर्चा और बहस करना है। 27 दलों के सदस्यों ने बैठक में भाग लिया।

उन्होंने कहा कि, प्रधानमंत्री मोदी चाहते हैं कि यह सत्र भी पिछले सत्र जितना ही फलदायी होना चाहिए। बताया जा रहा है कि इस सर्वदलीय बैठक के दौरान विपक्षी नेताओं ने फारूक अब्दुल्ला की हिरासत का मुद्दा उठाया था। इस दौरान उनका कहना था कि फारूक अब्दुल्ला को सत्र में भाग ​लेने की अनुमति दी जाए। हालांकि सरकार ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद हसनैन मसूदी ने बताया कि फारुक अब्दुल्ला की हिरासत का मुद्दा सर्वदलीय बैठक में उठाया गया। उन्होंने कहा कि संसद के सत्र में उनकी भागीदारी सुनिश्चित करना सरकार का संवैधानिक दायित्व है। इस सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कई वरिष्ठ विपक्षी नेताओं ने भाग लिया।

नई दिल्ली। संसद का शीतकालीन सत्र कल से शुरू हो रहा है। इससे पहले रविवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई गई। इस बैठक में पीएम मोदी ने आश्वासन दिया कि सरकार सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है। वहीं, विपक्ष ने इस दौरान फारूक अब्दुल्ला की हिरासत का मुद्दा पुरजोर तरीके से उठाया। विपक्ष का कहना है कि उन्हें सदन में भाग लेने की अनुमति दी जाए। वहीं, कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने बताया कि सरकार द्वारा बुलाई गई बैठक में विपक्ष ने मांग की कि सत्र के दौरान आर्थिक मंदी, बेरोजगारी और कृषि संकट पर चर्चा हो। संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बताया कि बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि संसद का सबसे महत्वपूर्ण काम चर्चा और बहस करना है। 27 दलों के सदस्यों ने बैठक में भाग लिया। उन्होंने कहा कि, प्रधानमंत्री मोदी चाहते हैं कि यह सत्र भी पिछले सत्र जितना ही फलदायी होना चाहिए। बताया जा रहा है कि इस सर्वदलीय बैठक के दौरान विपक्षी नेताओं ने फारूक अब्दुल्ला की हिरासत का मुद्दा उठाया था। इस दौरान उनका कहना था कि फारूक अब्दुल्ला को सत्र में भाग ​लेने की अनुमति दी जाए। हालांकि सरकार ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद हसनैन मसूदी ने बताया कि फारुक अब्दुल्ला की हिरासत का मुद्दा सर्वदलीय बैठक में उठाया गया। उन्होंने कहा कि संसद के सत्र में उनकी भागीदारी सुनिश्चित करना सरकार का संवैधानिक दायित्व है। इस सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कई वरिष्ठ विपक्षी नेताओं ने भाग लिया।