1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मुख्तार अंसारी को यूपी वापस लाने की पूरी तैयारी, परिवार को एनकाउंटर का डर

मुख्तार अंसारी को यूपी वापस लाने की पूरी तैयारी, परिवार को एनकाउंटर का डर

All Preparations To Bring Mukhtar Ansari Back To Up Family Afraid Of Encounter

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ: योगी सरकार पंजाब की जेल में बंद मुख्तार अंसारी को यूपी लाने की तैयारी में, परिवार को एनकाउंटर का डर इससे पहले भी यूपी सरकार ने मुख़्तार को यूपी में लाने की कोशिश की थी, लेकिन पंजाब सरकार ने मुख़्तार को वहीं रोकने के लिये तीन महीने का वक्त बढ़ा दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब सरकार को सहयोग करने का निर्देश दियापरिवार नहीं चाहता कि मुख्तार को यूपी की जेल में रखा जाए यूपी सरकार बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी को वापस यूपी लाने की तैयारी कर रही है. मुख्तार अंसारी फ़िलहाल पंजाब की रोपड़ जेल मे बंद हैं.

पढ़ें :- अनिल यादव ने सपा पर लगाए गंभीर आरोप, पत्नी पर की गई अभद्र टिप्पणी से हैं नाराज

और कई बार से यूपी से जुड़े आपराधिक मामलों में वीडियो काफ्रेसिंग के माध्यम से होने वाली पेशी में नहीं आ रहे हैं. इससे पहले भी यूपी सरकार ने मुख़्तार अंसारी को यूपी लाने की कोशिश की थी, लेकिन पंजाब सरकार ने मुख्तार को वहीं रोकने के लिये तीन महीने का वक्त और बढ़ा दिया था. अब यूपी सरकार ने मुख्तार अंसारी को वापस उत्तर प्रदेश लाने के लिये सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. इसके परिणामस्वरूप सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब सरकार को निर्देश दिए हैं कि मुख्तार की पेशी के लिये पंजाब सरकार, यूपी सरकार का सहयोग करे.

अब सुप्रीम कोर्ट का नोटिस लेकर गाजीपुर पुलिस पंजाब रवाना हुई है, जिससे मुख्तार अंसारी की यूपी के आपराधिक मामलों मे पेशी की जा सके. आपको बता दे कि मुख्तार और उसके कई करीबियों पर यूपी सरकार लगातार शिकंजा कस रही है. इससे पहले नवंबर, 2020 में योगी सरकार ने यूपी के मऊ से बाहुबली विधायक मुख्‍तार अंसारी के होटल ‘गजल’ पर बुलडोजर चला दिया था. ये होटल मुख्तार की पत्नी और बेटे के नाम पर है. मुख्तार अंसारी के बेटे उमर अंसारी और अब्बास अंसारी पर भी कुछ महीने पहले धोखाधड़ी, जालसाजी और फर्जी दस्तावेज तैयार करने आरोप में एफआईआर दर्ज की गई थी.

एक तरफ योगी सरकार मुख्तार को यूपी लाने की कवायदें कर रही है तो दूसरी तरफ मुख्तार का परिवार आशंका जता चुका है कि यूपी की जेलों मे मुख्तार की जान पर खतरा है, इसलिए वो नहीं चाहते कि मुख्तार को यूपी की किसी भी जेल मे बंद किया जाए. मुन्ना बजरंगी की जेल मे हत्या के बाद से ही माफियाओं में जेल में ही हत्या किये जाने का डर बैठ गया है, इसलिये कई माफिया दूसरे प्रदेश की जेलों मे अपना तबादला करा चुके हैं.

पढ़ें :- फिर शर्मसार हुई यूपी, सीतापुर में महिला से गैंगरेप के बाद प्राइवेट पार्ट में आग लगाई, आरोपी बाप-बेटा गिरफ्तार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...