इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के बाहर बीएसपी नेता की गोली मारकर हत्या

इलाहाबाद। बीएसपी नेता राजेश यादव की सोमवार की रात यूनिवर्सिटी के ताराचंद हॉस्टल के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गयी। हमले के वक्त मृतक नेता अपने किसी मित्र और शहर के एक नर्सिंग होम के मालिक डॉक्टर मुकुल के साथ किसी से मिलने हॉस्टल में गए थे। उनकी हत्या की सूचना मिलते ही समर्थक घर पर एकत्र हो गए। समर्थकों ने इंडियन प्रेस चौराहे पर जमकर हंगामा किया।

सोमवार रात वह राज नर्सिंग होम के मालिक डॉ. मुकुल सिंह के साथ फॉर्च्युनर गाड़ी से इलाहाबाद के ताराचंद हॉस्टल गए थे। रात में लगभग 2:30 बजे किसी से हॉस्टल के बाहर राजेश का विवाद हो गया। जिसके बाद अज्ञात लोगों ने उन्हें गोली मार दी। डॉ. मुकुल राजेश को आनन-फानन में एक प्राइवेट अस्पताल ले गए जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

{ यह भी पढ़ें:- दिल्ली: दोस्त के घर में फ्रिज में मिला लापता युवक का शव }

बसपा नेता राजेश यादव भदोही के ज्ञानपुर से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। पुलिस ने उनके शव को वहां से पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। कर्नलगंज कोतवाली की पुलिस अब मामले की पड़ताल में लगी है। उनकी हत्या की सूचना मिलते ही समर्थक घर पर एकत्र हो गए। समर्थकों ने इंडियन प्रेस चौराहे पर जमकर हंगामा किया।

चार दिन के अवकाश के बाद आज सरकारी कार्यालय के साथ स्कूल खुलने के कारण चौराहे पर हंगामा के कारण भयंकर जाम लगा है। राजेश यादव के समर्थक तोडफ़ोड़ भी करने में लगे हैं। राजेश यादव के समर्थकों ने रोडवेज की एक बस को आग के हवाले किया है। इलाहाबाद में इस हत्या के बाद माहौल काफी तनावपूर्ण बन गया है। समर्थकों ने पुलिस पर पथराव किया। बसपा नेता राजेश यादव की हत्या के बाद सीएमपी डिग्री कालेज के पास युवकों ने बस में तोड़फोड़ कर आग लगाने की कोशिश की। 10 गाड़ियों में पथराव भी किया।

{ यह भी पढ़ें:- छात्रसंघ चुनाव: समाजवादी छात्रसभा ने लहराया जीत का परचम, ABVP को सिर्फ एक सीट }