आरुषी हत्याकांड: उम्रकैद के खिलाफ तलवार दंपति की याचिका पर हाईकोर्ट सुनाएगी फैसला

Arushi murder case
आरुषी हत्याकांड: उम्रकैद के खिलाफ तलवार दंपति की याचिका पर हाईकोर्ट सुनाएगी फैसला

Allahabad High Court Will Announce Verdict Over Arushi Murder Case

इलाहाबाद। साल 2008 में देश की सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री के रूप में सामने आए आरुषी तलवार और हेमराज हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे डॉ0 राजेश तलवार और डॉ0 नूपुर तलवार की याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट आज अपना फैसला सुनाएगी। इस मामले की सीबीआई जांच के बाद सीबीआई विशेष अदालत द्वारा आरुषी के माता पिता को बेटी और घरेलू नौकर की हत्या का दोषी करार देते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई थी। सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले के बाद से अपनी बेटी की हत्या के दोषी के रूप में सजा भुगत रहे तलवार दंपति ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के समक्ष अपनी सजा को चुनौती थी।

मिली जानकारी के मुताबिक जस्टिस बीके नारायण और जस्टिस एके मिश्रा की संयुक्त अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने तलवार दंपति की याचिका पर 7 सितंबर को सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। जिसे 12 अक्टूबर यानी आज सुनाया जाना है।

आपको बता दें कि पेशे से डे​न​टिस्ट डा0 राजेश तलवार और डा0 नूपुर तलवार की इकलौती संतान आरुषी तलवार का शव 16 मई 2008 को गाजियाबाद के जलवायु बिहार स्थित आवास पर संदिग्ध अवस्था में मिला था। घटना की सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने आरुषी की हत्या के पीछे नौकर हेमराज का हाथ होने का संदेह जाहिर किया था। पुलिस की तहकीकात शुरू होने के चंद घंटे बाद ही हेमराज का शव छत पर मिलने के बाद इस मामले में नया मोड़ आ गया था।

इस पूरे मामले में पुलिस की ढ़िलाई और लापरवाई को लेकर उठे सवालों के बीच इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई थी। एक लंबी छानबीन के बाद सीबीआई ने इस हत्याकांड में आरुषी के मां बाप को ही दोषी मानते हुए अपनी क्लोजर रिपोर्ट अदालत के सामने पेश कर दी थी।

इलाहाबाद। साल 2008 में देश की सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री के रूप में सामने आए आरुषी तलवार और हेमराज हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे डॉ0 राजेश तलवार और डॉ0 नूपुर तलवार की याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट आज अपना फैसला सुनाएगी। इस मामले की सीबीआई जांच के बाद सीबीआई विशेष अदालत द्वारा आरुषी के माता पिता को बेटी और घरेलू नौकर की हत्या का दोषी करार देते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई थी। सीबीआई की विशेष अदालत के…