आरोपों में घिरे इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति और प्रॉक्टर ने दिया इस्तीफा

आरोपों में घिरे इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति और प्रॉक्टर ने दिया इस्तीफा
आरोपों में घिरे इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति और प्रॉक्टर ने दिया इस्तीफा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद विश्वविद्यालय में तीन साल से कुलपति रहे रतन लाल हांगलू और प्रॉक्टर राम सेवक दुबे ने पद से दिया इस्तीफा दे दिया। बताया जा रहा है कि उन्होने अपने साथ हुई अभद्रता से आहत होकर इस्तीफा दिया है। बता दें कि रतन लाल पर वित्तीय अनियमितता समेत नियुक्तियों में धांधली के आरोप लग चुके हैं, जिनकी जांच भी चल रही है।

Allahabad University Vc Rattan Lal Hangloo Resigned :

कुलपति रतन लाल आैर प्रॉक्टर के इस्तीफे की जानकारी मिलते ही विश्वविद्यालय में हड़कंप मच गया। रतन लाल को मनाने के लिए उनके आवास पर शिक्षकों की भीड़ जमा हाे गई। शिक्षकाें ने धमकी दी है कि अगर आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की जाती है ताे कमिश्नर आवास का घेराव किया जाएगा।

बताते चलें कि कुलपति रतनलाल हांगलू के खिलाफ हाल ही में उच्चस्तरीय जांच के लिए राष्ट्रपति ने मंजूरी दी है। कुलपति रतनलाल का विवादों से पुराना नाता रहा है। भर्ती से लेकर वित्तीय अनियमितता, प्रवेश, नियम विरुद्ध नियुक्ति, स्क्रीनिंग प्रक्रिया में मनमानी जैसी तमाम शिकायतें मिलने के बाद पूर्व में जांच भी हुई थी, जिसमें सारे आरोप सही पाए गए थे।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद विश्वविद्यालय में तीन साल से कुलपति रहे रतन लाल हांगलू और प्रॉक्टर राम सेवक दुबे ने पद से दिया इस्तीफा दे दिया। बताया जा रहा है कि उन्होने अपने साथ हुई अभद्रता से आहत होकर इस्तीफा दिया है। बता दें कि रतन लाल पर वित्तीय अनियमितता समेत नियुक्तियों में धांधली के आरोप लग चुके हैं, जिनकी जांच भी चल रही है।कुलपति रतन लाल आैर प्रॉक्टर के इस्तीफे की जानकारी मिलते ही विश्वविद्यालय में हड़कंप मच गया। रतन लाल को मनाने के लिए उनके आवास पर शिक्षकों की भीड़ जमा हाे गई। शिक्षकाें ने धमकी दी है कि अगर आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की जाती है ताे कमिश्नर आवास का घेराव किया जाएगा।बताते चलें कि कुलपति रतनलाल हांगलू के खिलाफ हाल ही में उच्चस्तरीय जांच के लिए राष्ट्रपति ने मंजूरी दी है। कुलपति रतनलाल का विवादों से पुराना नाता रहा है। भर्ती से लेकर वित्तीय अनियमितता, प्रवेश, नियम विरुद्ध नियुक्ति, स्क्रीनिंग प्रक्रिया में मनमानी जैसी तमाम शिकायतें मिलने के बाद पूर्व में जांच भी हुई थी, जिसमें सारे आरोप सही पाए गए थे।