एके पटनायक से बोले आलोक वर्मा, अस्थाना की पैरवी के लिए मिले थे सीवीसी

cbi alok verma
एके पटनायक से बोले आलोक वर्मा, अस्थाना की पैरवी के लिए मिले थे सीवीसी

नई दिल्ली। अपने औपचारिक सबमिशन में सीबीआई के अपदस्थ डायरेक्टर आलोक कुमार वर्मा ने जस्टिस एके पटनायक को बताया राकेश अस्थाना की पैरवी के लिए सीसीसी के केवी चौधरी ने उनसे मुलाकात की थी। उन्होने बताया कि वो 6 अक्टूबर को उनके आवास पर सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के लिए पैरोकारी करने के लिए आए थे।

Alok Verma Told Justice Patnaik Cvc Met Me On Rakesh Asthanas Behalf :

इसके बाद 23-34 अक्टूबर की आधी रात एक आदेश के जरिए उन्हे छुट्टी पर भेज दिया गया। बता दें कि एके पटनायक सीवीसी द्वारा की जा रही जांच का निरीक्षण करने वाले सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज हैं। इस बैठक के बारे में आलोक वर्मा ने बताया कि चौधरी ने अस्थान की एनुअल परफॉर्मेंस एप्रेजल रिपोर्ट के संबंध में बात की जो कि आलोक वर्मा द्वारा साइन की गई थी।

बता दें कि सबमिशन में हालांकि चौधरी और उनके दो साथी आयुक्त, टीएम भसिन और शरद कुमार का जिक्र किया गया। हालाकि इसमें उस रिपोर्ट का उल्लेख नहीं किया गया जो 12 नंवबर को सुप्रीम कोर्ट को सौंपी गई। इस रिपोर्ट के आधार पर ही आलोक वर्मा दस जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाली चयन समिति द्वारा दूसरी बार सीबीआई प्रमुख के पद से हटे।

नई दिल्ली। अपने औपचारिक सबमिशन में सीबीआई के अपदस्थ डायरेक्टर आलोक कुमार वर्मा ने जस्टिस एके पटनायक को बताया राकेश अस्थाना की पैरवी के लिए सीसीसी के केवी चौधरी ने उनसे मुलाकात की थी। उन्होने बताया कि वो 6 अक्टूबर को उनके आवास पर सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के लिए पैरोकारी करने के लिए आए थे। इसके बाद 23-34 अक्टूबर की आधी रात एक आदेश के जरिए उन्हे छुट्टी पर भेज दिया गया। बता दें कि एके पटनायक सीवीसी द्वारा की जा रही जांच का निरीक्षण करने वाले सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज हैं। इस बैठक के बारे में आलोक वर्मा ने बताया कि चौधरी ने अस्थान की एनुअल परफॉर्मेंस एप्रेजल रिपोर्ट के संबंध में बात की जो कि आलोक वर्मा द्वारा साइन की गई थी। बता दें कि सबमिशन में हालांकि चौधरी और उनके दो साथी आयुक्त, टीएम भसिन और शरद कुमार का जिक्र किया गया। हालाकि इसमें उस रिपोर्ट का उल्लेख नहीं किया गया जो 12 नंवबर को सुप्रीम कोर्ट को सौंपी गई। इस रिपोर्ट के आधार पर ही आलोक वर्मा दस जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाली चयन समिति द्वारा दूसरी बार सीबीआई प्रमुख के पद से हटे।