रामचंद्र कह गए सिया से, ऐसा कलयुग आएगा, बेटा करेगा राज, बेचारा पिता जंगल को जाएगा: अमर सिंह

Amar Singh Statement On Samajwadi Party Dispute

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले आखिरकार सपा दो भागों में बंट गई। विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों की घोषणा को लेकर बीते कई दिनों से मची खींचतान के बीच सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने पार्टी अनुशासन भंग करने का आरोप लगाते हुए अपने पुत्र और राज्य के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पार्टी से छह वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया। उधर, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अमर सिंह ने अपना पूरा समर्थन राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव को पूरा समर्थन दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमर सिंह ने कहा कि “रामचंद्र कह गए सिया से, ऐसा कलयुग आएगा, बेटा करेगा राज, बेचारा पिता जंगल को जाएगा।”



अमर सिंह ने कहा कि सपा सुप्रीमों के खिलाफ जो लोग भी साजिश कर रहे हैं, वो असंवैधानिक और अनैतिक है। नेती जी की अवमानना करना पार्टी के अनुशासन को भंग करने के समान है। आपको बता दें कि अमर सिंह को ही इस पूरे झगड़े का केंद्र माना जा रहा है। अमर सिंह फिलहाल लंदन में हैं और वह पार्टी के संसदीय दल के बैठक में शामिल नहीं हो पाएंगे।




गौरतलब है कि मुलायम सिंह ने विधानसभा 2017 के लिए पहले 325 की सूची जारी की थी। इस सूची में अखिलेश के करीबियों का टिकट काट दिया गया था। इसके बाद अखिलेश ने भी बगावती सुर अपनाते हुए गुरुवार की देर रात 235 प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी थी। नाटकीय घटनाक्रम में गुरुवार की ही देर रात शिवपाल यादव ने 68 प्रत्याशियों की दूसरी सूची भी जारी कर दी। बगावती सुर अखिलेश पर भारी पड़ गया।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले आखिरकार सपा दो भागों में बंट गई। विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों की घोषणा को लेकर बीते कई दिनों से मची खींचतान के बीच सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने पार्टी अनुशासन भंग करने का आरोप लगाते हुए अपने पुत्र और राज्य के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पार्टी से छह वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया। उधर, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अमर सिंह ने अपना पूरा…