अमरनाथ यात्रियों पर हमला: गृह मंत्री ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग, हमले के पीछे लश्कर का हाथ

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कश्मीर में अमरनाथ तीर्थयात्रियों पर हुए आतंकवादी हमले के मद्देनजर मंगलवार को सुरक्षा समीक्षा बैठक बुलाई है। अमरनाथ तीर्थयात्रियों पर सोमवार शाम हुए हमले में छह महिलाओं सहित सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जबकि 19 अन्य घायल हो गए।

यह बैठक संभावित सुरक्षा खामियों की जांच के लिए बुलाई गई है, जिनकी वजह से गुजरात से आ रही तीर्थयात्रियों की बस पर हमला हुआ। सूत्रों के अनुसार, जम्मू एवं कश्मीर में हालात का जायजा लेने के लिए बुलाई गई इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के अतिरिक्त गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों, खुफिया एवं अर्धसैनिक बलों के वरिष्ठ अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

कश्मीर रेंज के आईजी मुनीर खान ने बताया कि इस हमले के पीछे लश्कर-ए-तैयबा का हाथ है। इसका मास्टर माइंड लश्कर का पाकिस्तानी टेररिस्ट इस्माइल है।

PM मोदी ने किया ट्वीट—

हमले के बाद सोमवार रात नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, जम्मू कश्मीर में शांतिप्रिय अमरनाथ यात्रियों पर कायराना हमले से दुख हुआ। हर किसी को इस हमले की कड़ी से कड़ी निंदा करनी चाहिए। मेरी संवेदनाएं हमले में मारे गए लोगों के परिजनों से हैं। मेरी प्रार्थनाएं घायलों के साथ हैं। भारत इस तरह के कायराना हमलों के आगे कभी नहीं झुकेगा।