Amazon के Ceo बने सबसे अमीर व्यक्ति, गैराज से शुरू की थी कंपनी

amazon-ceo
Amazon के Ceo बने अब तक के सबसे अमीर व्यक्ति, गैराज में शुरू की थी कंपनी

नई दिल्ली। अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस अब तक के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। सूत्रों के अनुसार, ब्लूमबर्ग और फोर्ब्स दोनों ने अपने अरबपतियों की सूची में बेजोस को सबसे ऊपर रखा है। ब्लूमबर्ग ने कहा कि बुधवार तक बेजोस की संपत्ति 106 अरब डॉलर पर पहुंच गई है जबकि फोर्ब्स ने इसे 105 अरब डॉलर बताया है। इससे पहले यह रिकॉर्ड माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स के नाम था। 1999 में उनकी कुल संपत्ति 100 अरब डॉलर थी।

Amazon Ceo Is The Richest Person In History :

बेजोस की ज्यादातर संपत्ति उनके पास मौजूद अमेजन के 7.89 करोड़ शेयर से आती हैं। अमेजन (एएमजेडएन) के शेयर 2017 में करीब 57 प्रतिशत पर पहुंच गए थे। बिल गेट्स अभी भी सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में दूसरे स्थान पर काबिज है। उनकी कुल संपत्ति करीब 92 अरब हैं।

दान न देते तो सबसे आगे होते बिल गेट्स 
62 साल के गेट्स ने अगर बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन को अपनी दौलत का बड़ा हिस्सा दान न किया होता तो इस वक्त उनके पास 150 बिलियन डॉलर से ज्यादा की धन-दौलत होती। गेट्स ने तकरीबन 700 मिलियन डॉलर की कीमत के माइक्रोसॉफ्ट के शेयर, 2.9 बिलियन डॉलर कैश और कुछ जायदाद भी 1996 में फाउंडेशन को दे दी थी। इस बात की जानकारी भी गेट्स ने खुद ही सबको दी थी। 1999 में हुए डॉट.कॉम बूम के वक्त बिल गेट्स ने 100 बिलियन डॉलर का आंकड़ा पार किया था।

काफी पढ़ाकू थे जेफ
बचपन से ही जेफ काफी पढ़ाकू थे। वो हमेशा ही पढ़ाई करते रहते थे। जिसको देख उनके माता-पिता काफी चिंतित रहते थे। उनको लगता था कि उनका बच्चा सिर्फ पढ़ाई में ही न रह जाए। इसलिए उन्होंने जेफ को फुटबॉल खेलने के लिए प्रेरित किया। सबसे पहले जेफ ने प्रिस्टन यूनिवर्सिटी से फिजिक्स में पढ़ाई की जिसके बाद उन्होंने बीच में डिग्री छोड़ कम्प्यूटर साइंस और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना शुरू कर दिया।

गैराज में शुरू की कंपनी
जेफ को हमेशा ही कुछ अलग करने का मन था। पढ़ाई के बाद उन्होंने कई जगह जॉब की। लेकिन उनका मन नहीं लगा। सबसे पहले उन्होंने अपना खुद का काम गैराज में शुरू किया। बिजनेस चल पड़ा तो उन्होंने कंपनी को नाम देना का सोचा। सबसे पहले उन्होंने कडाब्रा और फिर रेलेंटसेस डॉट कॉम जैसे नाम सोचे लेकिन उन्हें खारिज कर दिया गया।

नई दिल्ली। अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस अब तक के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। सूत्रों के अनुसार, ब्लूमबर्ग और फोर्ब्स दोनों ने अपने अरबपतियों की सूची में बेजोस को सबसे ऊपर रखा है। ब्लूमबर्ग ने कहा कि बुधवार तक बेजोस की संपत्ति 106 अरब डॉलर पर पहुंच गई है जबकि फोर्ब्स ने इसे 105 अरब डॉलर बताया है। इससे पहले यह रिकॉर्ड माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स के नाम था। 1999 में उनकी कुल संपत्ति 100 अरब डॉलर थी।बेजोस की ज्यादातर संपत्ति उनके पास मौजूद अमेजन के 7.89 करोड़ शेयर से आती हैं। अमेजन (एएमजेडएन) के शेयर 2017 में करीब 57 प्रतिशत पर पहुंच गए थे। बिल गेट्स अभी भी सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में दूसरे स्थान पर काबिज है। उनकी कुल संपत्ति करीब 92 अरब हैं।दान न देते तो सबसे आगे होते बिल गेट्स  62 साल के गेट्स ने अगर बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन को अपनी दौलत का बड़ा हिस्सा दान न किया होता तो इस वक्त उनके पास 150 बिलियन डॉलर से ज्यादा की धन-दौलत होती। गेट्स ने तकरीबन 700 मिलियन डॉलर की कीमत के माइक्रोसॉफ्ट के शेयर, 2.9 बिलियन डॉलर कैश और कुछ जायदाद भी 1996 में फाउंडेशन को दे दी थी। इस बात की जानकारी भी गेट्स ने खुद ही सबको दी थी। 1999 में हुए डॉट.कॉम बूम के वक्त बिल गेट्स ने 100 बिलियन डॉलर का आंकड़ा पार किया था।काफी पढ़ाकू थे जेफ बचपन से ही जेफ काफी पढ़ाकू थे। वो हमेशा ही पढ़ाई करते रहते थे। जिसको देख उनके माता-पिता काफी चिंतित रहते थे। उनको लगता था कि उनका बच्चा सिर्फ पढ़ाई में ही न रह जाए। इसलिए उन्होंने जेफ को फुटबॉल खेलने के लिए प्रेरित किया। सबसे पहले जेफ ने प्रिस्टन यूनिवर्सिटी से फिजिक्स में पढ़ाई की जिसके बाद उन्होंने बीच में डिग्री छोड़ कम्प्यूटर साइंस और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना शुरू कर दिया।गैराज में शुरू की कंपनी जेफ को हमेशा ही कुछ अलग करने का मन था। पढ़ाई के बाद उन्होंने कई जगह जॉब की। लेकिन उनका मन नहीं लगा। सबसे पहले उन्होंने अपना खुद का काम गैराज में शुरू किया। बिजनेस चल पड़ा तो उन्होंने कंपनी को नाम देना का सोचा। सबसे पहले उन्होंने कडाब्रा और फिर रेलेंटसेस डॉट कॉम जैसे नाम सोचे लेकिन उन्हें खारिज कर दिया गया।