बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा भी हो गई भगवा

bheemrao ambedkar
बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा भी हो गई भगवा

बदायूं। राजधानी लखनऊ स्थित हज हाउस के भगवा होने के बाद हुए बवाल के बाद अब बदायूं में बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की मूर्ति भी भगवा हो गई। हालाकि वहां दलित समाज के लोगों के अलावा बसपा के नेताओं ने किसी प्रकार का कोई बवाल नही किया। आपकों बता दें कि पहली बार बाबा साहेब की मूर्ति भगवा रंग की देखी गई है। ऐसा देख पहले तो स्थानीय लोग भौचक्के रह गए। लेकिन बाद में उसका अनावरण कर माल्यार्पण किया गया।

Ambedkar Murti Installed In Saffron Color :

बता दें कि बदायूं कि दुगरैया गांव में संविधान निर्माता की मूर्ति को ​क्षतिग्रस्त कर दिया गया था, जिसकी सूचना जिला प्रशासन व पुलिस अधिकारियों को मिली तो हड़कंप मच गया। आनन—फानन में अधिकारियों ने आगरा ने बाबा साहेब की मूर्ति मंगवाई। रविवार को प्रतिमा का ग्रामीणों की उ​पस्थिती में अनावरण किया गया वो उसका रंग भगवा निकला। ये देख पहले वहां मौजूद आधिकारियों के होश उड़े, लेकिन जब बसपा जिलाध्यक्ष हेमेन्द्र गौतम समेत सैकड़ों बसपाइयों ने पूरे हर्षोल्लश के साथ मूर्ति पर माल्यार्पण किया तो अधिकारियों ने राहत की सांस ली।

आपको बता दें कि आम तौर पर बाबा साहेब की प्रतिमा नीले रंग में देखने को मिलती है। भगवा रंग में रंगी प्रतिमा को देखकर सियासी हवा थोड़ा तेज हो गई। लोग इस मुदृदे को लेकर आपस में कानाफूसी रहे कि भाजपा सरकार ने जानबूझ कर ऐसा करवाया है, लेकिन पार्टी के वरिष्ठ अधिकारियों को खामोश देख वो स​ब लोग भी चुप्पी साध गए।

बदायूं। राजधानी लखनऊ स्थित हज हाउस के भगवा होने के बाद हुए बवाल के बाद अब बदायूं में बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की मूर्ति भी भगवा हो गई। हालाकि वहां दलित समाज के लोगों के अलावा बसपा के नेताओं ने किसी प्रकार का कोई बवाल नही किया। आपकों बता दें कि पहली बार बाबा साहेब की मूर्ति भगवा रंग की देखी गई है। ऐसा देख पहले तो स्थानीय लोग भौचक्के रह गए। लेकिन बाद में उसका अनावरण कर माल्यार्पण किया गया।बता दें कि बदायूं कि दुगरैया गांव में संविधान निर्माता की मूर्ति को ​क्षतिग्रस्त कर दिया गया था, जिसकी सूचना जिला प्रशासन व पुलिस अधिकारियों को मिली तो हड़कंप मच गया। आनन—फानन में अधिकारियों ने आगरा ने बाबा साहेब की मूर्ति मंगवाई। रविवार को प्रतिमा का ग्रामीणों की उ​पस्थिती में अनावरण किया गया वो उसका रंग भगवा निकला। ये देख पहले वहां मौजूद आधिकारियों के होश उड़े, लेकिन जब बसपा जिलाध्यक्ष हेमेन्द्र गौतम समेत सैकड़ों बसपाइयों ने पूरे हर्षोल्लश के साथ मूर्ति पर माल्यार्पण किया तो अधिकारियों ने राहत की सांस ली।आपको बता दें कि आम तौर पर बाबा साहेब की प्रतिमा नीले रंग में देखने को मिलती है। भगवा रंग में रंगी प्रतिमा को देखकर सियासी हवा थोड़ा तेज हो गई। लोग इस मुदृदे को लेकर आपस में कानाफूसी रहे कि भाजपा सरकार ने जानबूझ कर ऐसा करवाया है, लेकिन पार्टी के वरिष्ठ अधिकारियों को खामोश देख वो स​ब लोग भी चुप्पी साध गए।