1. हिन्दी समाचार
  2. बार-बार फ़ोन करने पर नहीं पहुंची एम्बुलेंस, ठेले पर अस्पताल ले गए मरीज, नहीं बची जान

बार-बार फ़ोन करने पर नहीं पहुंची एम्बुलेंस, ठेले पर अस्पताल ले गए मरीज, नहीं बची जान

Ambulance Did Not Reach On Repeated Calls Patients Taken To Hospital On Handcuffs No Life Left

By a tyagi 
Updated Date

मुरादाबाद: देशभर में चल रहे लॉकडाउन के बीच मुरादाबाद के मुगलपुरा क्षेत्र से एक बेहद मार्मिक तस्वीर सामने आई है। कुछ लोग एक व्यक्ति की बॉडी को हाथ ठेला में रख कर ले जाते हुए दिखाई दिए। जब इन लोगो से इस बारे में पूछा गया तो इन्होंने बताया कि लगभग एक घण्टे तक 108 और 112 को फोन करके बुलाने का प्रयास करते रहे थे। जब गाड़ी नही पहुँची तो उन्होंने बीमार व्यक्ति को हाथ ठेले पर लिटाया और डॉक्टर के पास ले गए, जहाँ पर मरीज को मृतक घोषित कर दिया गया, वो लोग फिर वाद में बॉडी को ठेले पर रख कर ही घर की तरफ चल दिये, इनका कहना था कि अगर समय से गाड़ी पहुँच जाती तो एक जान बचाई जा सकती थी।

पढ़ें :- हमारे नेताजी भारत के पराक्रम की प्रतिमूर्ति भी हैं और प्रेरणा भी : पीएम मोदी

मुरादाबाद की इस तस्वीर ने कोरोना वायरस की फैली इस महामारी की मेडिकल साधनों की कमी जरूर उजागर कर दी है। दरअसल उक्त व्यक्ति के पैर में चोट लगने के कारण बीमार चल रहा था, शायद सैप्टिक हो गया था, जिसके लिए आस पड़ोस के लोग बीमार व्यक्ति को ले जाने के लिए 108 और 112 एम्बुलेंस को फोन करते रहे और इसी बीच मरीज की हालत बिगड़ने पर उसकी मौत हो गई, और मजबूरी वश उसकी बॉडी को हाथ ठेले पर रखकर ही ले जाया गया। इस बाबत सीएमओ डॉ एमसी गर्ग का कहना था कि 108 का समय 20 मिनट का है लेकिन वर्तमान में 108 सूचना के बाद मौके पर 8 मिनट में पहुंच रही है ये मामला अब संज्ञान में आया है पूरे मामले की जाँच करायी जाएगी।

रूपक त्यागी

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...