चीन के लिए जासूसी करता था CIA का पूर्व अधिकारी, 20 साल की जेल

cia
चीन के लिए जासूसी करता था CIA का पूर्व अधिकारी, 20 साल की जेल

नई दिल्ली। अमेरिका में चीन के लिए जासूसी करने के जुर्म में सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी (सीआईए) के एक पूर्व अधिकारी को शुक्रवार को 20 साल की सजा सुनाई गई। पूर्व अधिकारी केविन मैलोरी को 25,000 अमेरिकी डॉलर में चीनी खुफिया एजेंट को बेहद गोपनीय अमेरिकी रक्षा जानकारी बेचने के लिए जासूसी कानून के तहत दोषी ठहराया गया था।

America Former Cia Official Gets 20 Years Imprisonment For Spying For China :

सहायक अटॉर्नी जनरल जॉन डेमर्स ने बताया कि अमेरिकी खुफिया एजेंसी के पूर्व अधिकारी मैलोरी को चीनी खुफिया अधिकारी को राष्ट्रीय रक्षा सूचना देने की साजिश रचने के लिए अपनी जिंदगी के 20 साल जेल में बिताने होंगे। उन्होंने कहा कि चीन अमेरिका के पूर्व खुफिया अधिकारियों को निशाना बनता है और ये अधिकारी अपने देश और सहयोगियों से धोखा कर रहे हैं।

यह एक खतरनाक ट्रेंड है। डेमर्स ने कहा कि इस मामले में सजा होने से और हाल में यूटा में रोन हनसेन और वर्जीनिया में जेरी ली के अपराध स्वीकार करने से हमारे पूर्व खुफिया अधिकारियों को एक कड़ा संदेश गया है।

पूर्व सीआईए अधिकारी 62 वर्षीय केविन मैलोरी को जून 2018 में संघीय जूरी द्वारा दोषी ठहराया गया था। इस केस में मार्च और अप्रैल में सबूतों को अदालत में रखा गया था।

साक्ष्‍यों के मुताबिक, केविन मैलोरी ने माइकल यांग नाम के शख्‍स से मिलने के लिए शंघाई की यात्रा की थी जो‍ पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के थिंक टैंक का कर्मचारी था। एफबीआई ने जांच के बाद पाया कि मैलोरी ने अमेरिका की बेहद गोपनीय जानकारियों को माइकल यांग से शेयर किया था। जांच में यह भी पाया गया कि अमेरिका की कम से कम पांच गोपनीय जानकारियां शेयर की गई थीं।

नई दिल्ली। अमेरिका में चीन के लिए जासूसी करने के जुर्म में सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी (सीआईए) के एक पूर्व अधिकारी को शुक्रवार को 20 साल की सजा सुनाई गई। पूर्व अधिकारी केविन मैलोरी को 25,000 अमेरिकी डॉलर में चीनी खुफिया एजेंट को बेहद गोपनीय अमेरिकी रक्षा जानकारी बेचने के लिए जासूसी कानून के तहत दोषी ठहराया गया था। सहायक अटॉर्नी जनरल जॉन डेमर्स ने बताया कि अमेरिकी खुफिया एजेंसी के पूर्व अधिकारी मैलोरी को चीनी खुफिया अधिकारी को राष्ट्रीय रक्षा सूचना देने की साजिश रचने के लिए अपनी जिंदगी के 20 साल जेल में बिताने होंगे। उन्होंने कहा कि चीन अमेरिका के पूर्व खुफिया अधिकारियों को निशाना बनता है और ये अधिकारी अपने देश और सहयोगियों से धोखा कर रहे हैं। यह एक खतरनाक ट्रेंड है। डेमर्स ने कहा कि इस मामले में सजा होने से और हाल में यूटा में रोन हनसेन और वर्जीनिया में जेरी ली के अपराध स्वीकार करने से हमारे पूर्व खुफिया अधिकारियों को एक कड़ा संदेश गया है। पूर्व सीआईए अधिकारी 62 वर्षीय केविन मैलोरी को जून 2018 में संघीय जूरी द्वारा दोषी ठहराया गया था। इस केस में मार्च और अप्रैल में सबूतों को अदालत में रखा गया था। साक्ष्‍यों के मुताबिक, केविन मैलोरी ने माइकल यांग नाम के शख्‍स से मिलने के लिए शंघाई की यात्रा की थी जो‍ पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना के थिंक टैंक का कर्मचारी था। एफबीआई ने जांच के बाद पाया कि मैलोरी ने अमेरिका की बेहद गोपनीय जानकारियों को माइकल यांग से शेयर किया था। जांच में यह भी पाया गया कि अमेरिका की कम से कम पांच गोपनीय जानकारियां शेयर की गई थीं।