भारत को अपाचे जंगी हेलिकॉप्टर बेचेगा अमेरिका, ये हैं इसकी खूबियां

america, Apache, Choppers, helecopter, India, भारत, अपाचे, हेलीकॉप्टर, मिसाइल
america, Apache, Choppers, helecopter, India, भारत, अपाचे, हेलीकॉप्टर, मिसाइल

नई दिल्ली। अमेरिकी सरकार ने भारत को छह अपाचे जंगी हेलीकॉप्टर बेचने के सौदे को मंजूरी दे दी है। ये सौदा 6340 करोड़ रुपये (930 मिलियन डॉलर) में किया गया है। इस समझौते को अमेरिकी कांग्रेस के पास भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि अगर इस समझौते पर कोई भी सांसद सवाल नहीं उठाता है तो इसे मंजूरी के लिए आगे भेज दिया जाएगा। इससे भारतीय फौज की ताकत काफी बढ़ जाएगी। इन्हें दुनिया के सबसे बेहतरीन अटैक हेलीकॉप्टर माना जाता है।

इसके साथ ही अमेरिकी विदेश विभाग ने 4 एएन/एपीजी-78 फायर कंट्रोल रडार, 180 एजीएम-114एल-3 हेलफायर लांगबो मिसाइल, 90 एजीएम-114आर-3 हेलफायर टू मिसाइल, 200 स्ट्रिंगर ब्‍लॉक वन-92 एच मिसाइल, एम्‍बेडेड जीपीएस इंटीरियल नैविगेशन सिस्‍टम, 30 एमएम कैनन, ट्रांसपोर्डर, सिमुलेटर, ट्रेनिंग इक्विमेंट देने को भी तैयार हो गया है। इन पूरे सैन्‍य साजोसामान में कुल 930 मिलियन डॉलर खर्च होंगे।

{ यह भी पढ़ें:- मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम ने दिया इस्तीफा }

टाटा के साथ है बोइंग की साझेदारी

अपाचे हेलीकॉप्‍टर को बोइंग कंपनी बनाती है। इस कंपनी के साथ देश के टाटा ग्रुप की साझेदारी भी है। दोनों कंपनियां मिलकर भारत में हेलीकॉप्‍टर का निर्माण कर रही हैं। अमेरिका के रक्षा विभाग ने इस सौदे की पुष्टि की है। उसका कहना है कि भारत की मांग पर अमेरिका ने इस सौदे को मंजूरी दी है। इससे दोनों देशों के रक्षा संबंध और प्रगाढ़ होंगे। साथ ही दक्षिण एशिया में राजनीतिक स्थिरता, शांति और आर्थिक प्रगति में इजाफा होगा। अमेरिका ने यह भी कहा कि इस सौदे का उद्देश्‍य यह कतई नहीं है कि वह दक्षिण एशिया में सैन्‍य संतुलन बिगाड़ना चाहता है।

क्या है अपाचे जंगी हेलीकॉप्टर की खूबियां?

1. एएच-64-ई’ हेलीकॉप्टर अत्याधुनिक लड़ाकू हेलीकॉप्टरों में गिने जाते हैं जिनमें आधुनिक शस्त्र प्रणाली और रात में भी लड़ने की क्षमता होती है।

{ यह भी पढ़ें:- Make In India से प्रेरित होकर विशाल ने बनाई हीरे की अंगूठी, गिनीज बुक में शामिल }

2. बेहद कम उंचाई पर उड़कर हवाई हमले के साथ ही जमीनी हमले करने में भी ये सक्षम है।

3. ये हेलीकॉप्टर अमेरिकी सेना के सबसे शक्तिशाली हेलीकॉप्टर हैं। जो हेलफायर मिसाइलों से लैस होते हैं।

4. अपाचे हेलीकॉप्टर में टर्बोसाफ्ट इंजन लगे हैं। इसका वजन 5,165 किलो है।

{ यह भी पढ़ें:- रक्षा मंत्री की PAK को कड़ी चेतावनी, संघर्ष विराम का सम्मान लेकिन हमला हुआ तो मिलेगा करारा जवाब }

5. अपाचे हेलीकॉप्टर में एजीएम-114 हेलीफायर मिसाइल और हाइड्रा 70 रॉकेट पॉड्स भी लगे हैं।

6. इस हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल तमाम युद्धों में हो चुका है। अमेरिकी सेना इसे गल्फ वॉर के समय और फॉल्कन वार के दौरान इस्तेमाल कर चुकी है।

7. ये हेलीकॉप्टर ब्रिटेन, अमेरिका सहित 19 देशों के पास है।

8. इसमें बाहर की तरफ तीन हुक हैं जिनसे भारी सामान टांगकर भी ये उड़ान भर सकता है।

{ यह भी पढ़ें:- परमाणु क्षमता से लैस अग्नि- 5 का सफल परीक्षण, चीन और PAK भी रेंज में }

9. अपाचे हेलिकॉप्टरों की मदद से भारतीय सेना न सिर्फ पश्चिमी सीमा पर दुश्मनों के परखच्चे उड़ाने में सफल होगी, बल्कि वर्मा की सीमा में घुसकर किए काम्बैट ऑपरेशन की तरह वो और भी ऑपरेशन करने में सक्षम होगी।

नई दिल्ली। अमेरिकी सरकार ने भारत को छह अपाचे जंगी हेलीकॉप्टर बेचने के सौदे को मंजूरी दे दी है। ये सौदा 6340 करोड़ रुपये (930 मिलियन डॉलर) में किया गया है। इस समझौते को अमेरिकी कांग्रेस के पास भेज दिया गया है। बताया जा रहा है कि अगर इस समझौते पर कोई भी सांसद सवाल नहीं उठाता है तो इसे मंजूरी के लिए आगे भेज दिया जाएगा। इससे भारतीय फौज की ताकत काफी बढ़ जाएगी। इन्हें दुनिया के सबसे बेहतरीन…
Loading...