1. हिन्दी समाचार
  2. बगदाद में मिसाइलें दागकर अमेरिका ने लिया बदला, ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी समेत सात की मौत

बगदाद में मिसाइलें दागकर अमेरिका ने लिया बदला, ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी समेत सात की मौत

By शिव मौर्या 
Updated Date

America Retaliated By Firing Missiles In Baghdad Seven Including Iranian General Qasim Sulemani Died

बगदाद। अमेरिकी सेना ने बगदाद हवाई अड्डे पर मिसाइले दागकर ईरान के शीर्ष कमांडर समेत सात लोगों को मौत के घाट उतार दिया है। इस हमले के बाद अमेरिका और ईरान में तनाव और बढ़ने के आसान हैं। उधर, फ्लोरिडा में छुट्टियां मना रहे अमेरिकी राष्ट्रपति ने शुक्रवार आधी रात एक ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने कुछ नहीं लिखा, जबकि अमेरिका के झंडे को पोस्ट किया ​था। बताया जा रहा है कि डोनाल्ड ट्रंप के इस ट्वीट की क्रोनोलॉजी इराक के बगदाद में अमेरिकी सेना के उस एयर स्ट्राइक से जुड़ी है, जिसमें उसने ईरान के सबसे ताकतवर जनरल कासिम सुलेमानी को मार डाला।

पढ़ें :- मुख्यमंत्री के दफ्तर के कई कर्मचारी कोरोना संक्रमित, सीएम योगी ने खुद को किया आइसोलेट

ट्रंप का यह ट्वीट विजयी जश्न और ईरान के लिए संदेश के तौर पर देखा जा रहा है। बताया जा रहा है कि अमेरिका ने एक के बाद एक कई मिसाइलें दागकर बगदाद हवाई अड्डे पर भीषण तबाही मचाई है। हवाई अड्डे पर मौजूद ईरान और हिज्बुल्लाह की संपत्तियों को भारी नुकसान पहुंचा है। अमेरिका ने यह हमला खुफिया जानकारी मिलने के बाद किया। अमेरिका ने यह भी दावा किया कि मारा गया ईरानी कमांडर अमेरिकी नागरिकों पर हमले की साजिश रच रहा था।

कासिम सुलेमानी (फाइल फोटो)

वहीं, ईरान के सरकारी टीवी ने सुलेमानी के मारे जाने की पुष्टि की है। बता दें कि सुलेमानी को पश्चिम एशिया में ईरानी गतिविधियों को चलाने का प्रमुख रणनीतिकार माना जाता है। सुलेमानी पर सीरिया में अपनी जड़ें जमाने और इजरायल में रॉकेट अटैक कराने का आरोप था। अमेरिका को लंबे समय से सुलेमानी की तलाश थी। इसके साथ ही पेंटागन ने भी सुलेमानी की मौत की पुष्टि कर दी है। अमेरिकी मीडिया के अनुसार, राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के आदेश के बाद अमेरिकी सेना ने ईरान के सीनियर कमांडर सुलेमानी को मार डाला है।

अमेरिकी राष्ट्रपति को दी थी चेतावनी
मारा गया सुलेमानी अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का विरोधी माना जाता था। कई मौके पर सुलेमानी ने अमेरिका को चेतावनी दी थी। बगदाद में अमेरिकी दूतावास पर हमले के बाद ट्रंप ने ईरान को चेतावनी दी थी। नए साल के पहले दिन ट्रंप ने चेतावनी देते हुए कहा था कि ईरान को नुकसान उठाना पड़ेगा। ट्रंप की इस धमकी के बाद अमेरिका ने यह कार्रवाई की है।

पढ़ें :- ब्रैडपीट को भाया था भारत का ये प्राचीन शहर, पसंद आई थी साउथ से लेकर नार्थ तक की सभ्यता

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...