1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. अमेरिका ने लंदन की कोर्ट में कहा – पाकिस्तान में रह रहा है अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम

अमेरिका ने लंदन की कोर्ट में कहा – पाकिस्तान में रह रहा है अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। पाकिस्तान इस बात से हमेशा इनकार करता रहा है कि दाऊद पाकिस्तान में है। लेकिन लंदन की एक कोर्ट में अमेरिकी सरकार ने कहा है कि दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में है। अपने अंतरराष्ट्रीय अपराध सिंडिकेट को वह कराची से ऑपरेट करता है। अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई ने लंदन की एक अदालत में यह दावा किया।

पाक में रहकर अपना नेटवर्क चला रहा डॉन

दाऊद इब्राहिम के खास सहयोगी जाबिर मोतीवाला के अमेरिका प्रत्यर्पण के ट्रायल के पहले दिन अमेरिका की तरफ से वकील जॉन हार्डी ने कोर्ट में पक्ष रखाष उन्होंने कहा, ‘एफबीआई न्यू यॉर्क में डी कंपनी के लिंक की जांच कर रही है। डी कंपनी का नेटवर्क पाकिस्तान, भारत और यूएई में फैला हुआ है। इस कंपनी का प्रमुख भारतीय मुसलमान दाऊद इब्राहिम है जो पाकिस्तान में रह रहा है।’

खास तौर पर मनी लॉन्ड्रिंग और उगाही के काम डी कंपनी अंजाम दे रही है।’ दाऊद के खास सहयोगी जाबिर मोतीवाला को अमेरिका ले जाकर पूछताछ का मामला लंदन की कोर्ट में चल रहा है। मोतीवाला को लंदन से एफबीआई ने 2018 में अंडरकवर एजेंट के जरिए जाल बिछाकर पकड़ा था।

जाबिर मोतीवाला है दाऊद का खास सहयोगी

जॉन हार्डी ने मोतीवाला के प्रत्यर्पण की दलील देते हुए कहा, ‘एफबीआई की जांच में स्पष्ट हुआ है कि मोतीवाला सीधे दाउद को रिपोर्ट करता था। डॉन के इस करीबी सहयोगी का काम उगाही, मनी लॉन्ड्रिंग, वसूली करना था।’ अमेरिकी की प्रत्यर्पण अपील के खिलाफ मोतीवाला ने अपील की है। अमेरिकी जांच एजेंसी उसे अमेरिका ले जाकर ड्रग्स ट्रैफिकिंग, मनी लॉन्ड्रिंग और दूसरे अपराधों का ट्रायल शुरू करना चाहती है।

पाकिस्तानी नागरिक है जाबिर मोतीवाला

बता दें कि मोतीवाला पाकिस्तानी नागरिक है, जिसके पास ब्रिटेन का 10 साल का वीजा है। मोतीवाला को मेट्रोपॉलिटन पुलिस प्रत्यर्पण इकाई ने अमेरिकी सरकार के प्रत्यर्पण अनुरोध के बाद पिछले शुक्रवार को लंदन के एक होटल में गिरफ्तार किया था। गौरतलब है कि पाकिस्तान लगातार इस बात से इनकार करता रहा है कि दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में रह रहा है। अब जब अमेरिका ने लंदन की कोर्ट में कहा है कि दाऊद पाकिस्तान में रह रहा है, पाकिस्तान की भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...