अमेरिका की पाकिस्तान को चेतावनी, उठाये ठोस और कड़े कदम, वरना भुगतना पड़ेगा अंजाम

index

अमेरिका। अमेरिका ने पाकिस्तान को आगाह करते हुए कहा है कि भारत में एक और आतंकवादी हमला उसके लिए गंभीर संकट पैदा कर देगा। अमेरिका ने साथ ही पाकिस्तान से उसकी सरजमीं पर आतंकवाद और उसके आकाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

America Warns Pakistan Says Another Terrorist Attack In India Will Be Harmful :


व्हाइट हाउस ने कहा हम पाकिस्तान की तरफ से उसकी धरती पर पल रहे आतंकवाद खासकर जैश ए मोहम्मद और लश्कर ए तैयबा जैसे संगठनों के खिलाफ टिकाऊ और प्रामाणिक कार्रवाई देखना चाहते हैं। जिससे उस क्षेत्र में एक बार फिर से युद्ध की स्थिति उत्पन्न ना हो। ये बातें व्हाइट हाउस प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहीं।

व्हाइट हाउस ने आगे कहा कि यदि पाकिस्तान अपनी सरजमीं पर पल रहे आतंकवाद के खिलाफ कोई प्रामाणिक कार्रवाई नहीं करता और निकट भविष्य में भारत में फिर से कोई आंतकवादी हमला होता है तो ऐसी स्थिति में उसे पाकिस्तान को काफी गंभीर परिणाम भुगतना पड़ सकता है। व्हाइट हाउस ने पाकिस्तान से यह बताने के लिए कहा कि भारतीय एयरफोर्स द्वारा बालाकोट स्थित जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैंप पर एयर स्ट्राइक करने के बाद उसने पाकिस्तान ने अपनी सरजमीं पर पल रहे आतंकवादी संगठनों के खिलाफ क्या कार्रवाई की।

व्हाइट हाउस ने आगे यह भी जोड़ा कि भारत की एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपने यहां कुछ आतंकी संगठनों पर प्रतिबंध लगाया हैए लेकिन इस कार्रवाई को फिलहाल पर्याप्त नहीं माना जा सकता। बालाकोट में भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान की ओर से उठाए गए कदमों के बारे में व्हाइट हाउस के अधिकारी ने कहा अमेरिका और अंतरराष्ट्रीय समुदाय देखना चाहता है कि आतंकी संगठनों के खिलाफ ठोस और निर्णायक कार्रवाई हो।

अभी पाकिस्तान की ओर से उठाए गए कदमों को लेकर पूर्ण आकलन करना जल्दबाजी होगी। शुरूआती कदम उठाए हैं। मसलन कुछ आतंकी संगठनों के संपत्तियां जब्त की गई हैं और कुछ की गिरफ्तारी भी हुई है और जैश के कुछ ठिकानों को प्रशासन ने अपने कब्जे में लिया है। अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि इन कदमों के अलावा अभी पाकिस्तान की ओर से बहुत कुछ किए जाने की जरूरत है।

अमेरिका। अमेरिका ने पाकिस्तान को आगाह करते हुए कहा है कि भारत में एक और आतंकवादी हमला उसके लिए गंभीर संकट पैदा कर देगा। अमेरिका ने साथ ही पाकिस्तान से उसकी सरजमीं पर आतंकवाद और उसके आकाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।


व्हाइट हाउस ने कहा हम पाकिस्तान की तरफ से उसकी धरती पर पल रहे आतंकवाद खासकर जैश ए मोहम्मद और लश्कर ए तैयबा जैसे संगठनों के खिलाफ टिकाऊ और प्रामाणिक कार्रवाई देखना चाहते हैं। जिससे उस क्षेत्र में एक बार फिर से युद्ध की स्थिति उत्पन्न ना हो। ये बातें व्हाइट हाउस प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया ब्रीफिंग के दौरान कहीं।

व्हाइट हाउस ने आगे कहा कि यदि पाकिस्तान अपनी सरजमीं पर पल रहे आतंकवाद के खिलाफ कोई प्रामाणिक कार्रवाई नहीं करता और निकट भविष्य में भारत में फिर से कोई आंतकवादी हमला होता है तो ऐसी स्थिति में उसे पाकिस्तान को काफी गंभीर परिणाम भुगतना पड़ सकता है। व्हाइट हाउस ने पाकिस्तान से यह बताने के लिए कहा कि भारतीय एयरफोर्स द्वारा बालाकोट स्थित जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैंप पर एयर स्ट्राइक करने के बाद उसने पाकिस्तान ने अपनी सरजमीं पर पल रहे आतंकवादी संगठनों के खिलाफ क्या कार्रवाई की।

व्हाइट हाउस ने आगे यह भी जोड़ा कि भारत की एयरस्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपने यहां कुछ आतंकी संगठनों पर प्रतिबंध लगाया हैए लेकिन इस कार्रवाई को फिलहाल पर्याप्त नहीं माना जा सकता। बालाकोट में भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान की ओर से उठाए गए कदमों के बारे में व्हाइट हाउस के अधिकारी ने कहा अमेरिका और अंतरराष्ट्रीय समुदाय देखना चाहता है कि आतंकी संगठनों के खिलाफ ठोस और निर्णायक कार्रवाई हो।

अभी पाकिस्तान की ओर से उठाए गए कदमों को लेकर पूर्ण आकलन करना जल्दबाजी होगी। शुरूआती कदम उठाए हैं। मसलन कुछ आतंकी संगठनों के संपत्तियां जब्त की गई हैं और कुछ की गिरफ्तारी भी हुई है और जैश के कुछ ठिकानों को प्रशासन ने अपने कब्जे में लिया है। अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि इन कदमों के अलावा अभी पाकिस्तान की ओर से बहुत कुछ किए जाने की जरूरत है।