पंचसितारा होटल में अमेरिकी महिला से गैंगरेप, चार आरोपी गिरफ्तार

नई दिल्ली: कनॉट प्लेस स्थित एक पंचसितारा होटल में अमेरिकी महिला से गैंगरेप मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को धरदबोचा है। पकड़े गए आरोपियों में मुख्य आरोपी टूरिस्ट गाइड व उसके अन्य तीनों सहयोगी हैं। हालांकि एक आरोपी अभी फरार है। उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि पीड़िता व सभी आरोपियों से हुई गहन पूछताछ के बाद सोमवार को चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। चारों आरोपियों को मंगलवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जा सकता है।




उल्लेखनीय है कि एक दिन पहले ही गैंगरेप की शिकार अमेरिकी युवती ने दिल्ली पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए थे। पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसे मुंह खोलने पर आरेापियों ने जान से मारने की धमकी दी थी और इसके बावजूद वह घटना के बाद इसकी शिकायत करने दिल्ली पुलिस मुख्यालय गई थी, लेकिन उसकी उस समय शिकायत नहीं ली गई। जिसके बाद वह परेशान होकर अपने देश वापस चली गई थी। अमेरिका पहुंचने पर उसने अपने साथ हुई दरिंदगी को लेकर एक एनजीओ तथा दिल्ली में अमेरिकी दूतावास का दरवाजा खटखटाया था, जिसके बाद उनके वकील के अनुरोध पर करीब 10 महीने बाद इस बाबत कनॉट प्लेस थानों में गैंगरेप समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया।

उधर दिल्ली पुलिस का कहना है कि मामला दर्ज किए जाने के बाद पीड़िता से संपर्क किया गया और उसे आधिकारिक बयान देने के लिए भारत आने के लिए कहा गया, जिसके बाद वह दिसम्बर महीने के तीसरे सप्ताह में दिल्ली आई थी। इस बीच पुलिस ने आरोपियों से संपर्क कर जांच में शामिल होने के लिए कहा और सोमवार को आखिरकार गैंगरेप में शामिल चार आरोपियों को धर दबोचा गया।




फिलहाल यह जानने में जुटी है कि इस वारदात में कोई और तो शामिल नहीं था। हालांकि एक और आरोपी के इस वारदात में शामिल होना बताया जाता है। पुलिस ने अमेरिकी महिला को न्याय का भरोसा दिलाया है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि महिलाओं के प्रति होने वाले अपराध को लेकर दिल्ली पुलिस सजग है जहां तक अमेरिकी महिला तथा उनके वकील के आरोप का सवाल है तो इस बारे में गहन जांच की जा रही थी इससे आरोपियों की गिरफ्तारी में देरी हुई। हालांकि सभी आरोपी दिल्ली पुलिस के संपर्क में थे और किसी को भी क्लीनचिट नहीं दिया गया था। सूत्रों ने बताया कि पीड़िता तथा आरोपियों से किए गए पूछताछ में कई विरोधाभाष भी आए थे लेकिन किरकरी से बचने के लिए दिल्ली पुलिस की आरोपियों को पकड़े जाने का निर्णय लिया।




गैंगरेप की शिकार अमेरिकी युवती को अब भारत और भारतीयों के बारे में नेगेटिव इमेज बन गई है। खासकर दिल्ली पुलिस की जांच को लेकर। उसने पुलिस से कहा है कि उसे यदि न्याय नहीं मिलता तो वह मानवाधिकार आयोग से लेकर अन्य मंचों पर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर दरवाजा खटखटाती। विदेशी महिला ने दिल्ली पुलिस की जांच पर सवाल उठाते हुए कहा कि अब आरोपियों को सजा दिलाने का काम दिल्ली पुलिस का है।