1. हिन्दी समाचार
  2. चीन की दादागिरी पर अमेरिका की चेतावनी, भारत को छेड़ा तो छोड़ेंगे नहीं, US भेज रहा सेना

चीन की दादागिरी पर अमेरिका की चेतावनी, भारत को छेड़ा तो छोड़ेंगे नहीं, US भेज रहा सेना

Americas Warning On Chinas Dadagiri India Will Not Be Teased Will Not Send Us Troops

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: दुनिया को कोरोना में उलझाकर चीन अपनी विस्तारवादी नीति को बढ़ाने में लगा है। एशिया में चीन की दादागिरी लगातार बढ़ती जा रही है। चीन की हरकतों पर अमेरिका लगातार नजर बनाए हुए है और इसकी काट तैयार करने के लिए एक अहम रणनीतिक और सैन्य फैसले के तहत यूरोप में अपनी सेनाएं घटाकर एशिया में तैनात करने जा रहा है।

पढ़ें :- महिला खिलाड़ी ने तोड़ा महेंद्र सिंह धोनी का रिकॉर्ड, जानिए पूरा मामला

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा कि भारत और दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के सामने चीन के बढ़ते खतरे को देखते हुए ही अमेरिका यूरोप में अपने सैनिकों की तैनाती को घटाकर इन्हें उचित जगहों पर तैनात करने जा रहा है।

जब पोम्पियो से पूछा गया कि अमेरिका जर्मनी से अपनी सेनाएं क्यों हटा रहा है, तो पोम्पियो ने कहा कि जर्मनी में अमेरिका की सेनाएं नहीं हैं क्योंकि उन्हें दूसरे जगहों पर भेजा जा रहा है। समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ पोम्पियो ने कहा कि चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के कदम ये दर्शाते हैं कि भारत के सामने चुनौती, वियतनाम के सामने खतरा है, मलेशिया, इंडोनेशिया और दक्षिण चीन सागर में चीन की चुनौती है।

पोम्पियो ने आगे कहा, ” हम इस बात को सुनिश्चित करने जा रहे हैं कि इन चुनौतियों से निपटने के लिए अमेरिकी सेना की तैनाती उचित रूप से रहे। पोम्पियो ने कहा था, “पीएलए ने भारत के साथ सीमा विवाद बढ़ा दिया है, जो कि दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। वह दक्षिण चीन सागर का सैन्यीकरण कर रहा है, वहां अवैध तरीके से क्षेत्र पर कब्जा कर रहा है और अहम समुद्री मार्गों को खतरा पहुंचा रहा है।

पढ़ें :- संसद के बाद कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी, विपक्ष कर रहा था इसका विरोध

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...