दर्दनाक हादसा: बारातियो से भरी कार ट्रेन से टकराई, चार की मौत, कई घायल

अमेठी। मानव रहित रेलवे क्रासिंग जानलेवा बन चुकी है। रेल फाटक नहीं होने की वजह से आए दिनों दुर्घटनाओं में लोगों को जान गंवानी पड़ती है। रेल फाटक लगाने के प्रति रेलवे उदासीन बना हुआ है और लोगों की जान पर खतरा मंडराता रहता है।

क्या है मामला-

{ यह भी पढ़ें:- महकमा मेहरबान तो सरकारी भवन बना प्राइवेट 'गोदाम' }

अमेठी के मुसाफिरखाना थाना क्षेत्र अन्तर्गत मठाभुसुंडा मानव रहित रेलवे क्रासिंग पर आज सायं 7:30 लखनऊ की ओर से आ रही मेमो ट्रेन ने बारातियों से भरी बोलेरो को टक्कर मार दी। इस हादसे में चार लोगों की मौत की खबर है जबकि 5 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए प्राप्त जानकारी के अनुसार मठाभुसुंडा मानव रहित रेलवे क्रासिंग पर बारातियों से भरी एक बोलेरों रेलवे क्रासिंग आ रही थी कि उसी वक्त मेमो ट्रेन तेज गति से आई और बोलेरो को टक्कर मार दी।

टक्कर लगने से बोलेरो लगभग दो सौ मीटर दूर जा गिरी जिसमे बैठे चार बाराती धर्मेंद्र, रबी, रामदर्शन सरोज उर्फ अक्षय, राम राज यादव की दर्दनाक मौत हो गयी। वहीं, गम्भीर रूप से घायलों में बनवारी यादव और उमाशंकर को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया सूचना पर रेलवे अधिकारी और पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और बचाव व राहत कार्य जुट गये।

{ यह भी पढ़ें:- जमीनी रंजिश में खूनी तांडव, फायरिंग से आधा दर्जन घायल, दो की हालत नाजुक }

जागरुक नहीं हैं लोग-

मानव रहित रेलवे क्रासिंग पार करने के नियमों की अनदेखी किये जाने से दुर्घटना होती है इस घटना पर दुख जताते हुए कुछ जागरूक लोग कहते हैं कि लोगों में जागरुकता की कमी है। रेलवे द्वारा समय-समय पर मानव रहित व मानव सहित फाटक पार करने के नियम की जानकारी नुक्कड़ नाटक व अन्य माध्यम से दी जाती है।

गेट गिरने के बाद भी पार करने की हड़बड़ी-

{ यह भी पढ़ें:- अमेठी में मुस्लिम महिलाओं का रिएक्शन- 'गुजरात में Vote For Modi-Vote For BJP' }

मानव सहित रेलवे क्रासिंग पर गेट गिरने के बाद भी पार करने की हड़बड़ी रहती है जिसे रोकने के लिये रेल विभाग द्वारा कोई कदम नहीं उठाया जाता है जबकि गेट गिरने के बाद पार करते पकड़े जाने पर 200-1000 तक का जुर्माना हो सकता है बावजूद गेट के नीचे से लोगों को मोटरसाइकिल,रिक्शा पार करते हुये आसानी से देखा जाता है शहरी क्षेत्र में जब लोग जागरूक नहीं हैं तो इसी से ग्रामीण इलाके का भी अंदाजा लगाया जा सकता है।

रिपोर्ट-राम मिश्रा

Loading...