‘शराब के शौकीनों’ के लिए सहालग बन आए ‘चुनाव’, प्रशासन की पैनी नजर

'शराब के शौकीनों' के लिए सहालग बन आए 'चुनाव', प्रशासन की पैनी नजर

अमेठी: अमेठी में प्रशासन निष्पक्ष निकाय चुनाव एवं भयमुक्त वातावरण के लिए लगातार ताबड़तोड़ कार्यवाही कर रहा है दबंगों, माफियाओं को जिला बदर करने के साथ ही अवैध शराब के काले कारोबारियों पर कार्यवाही हो रही है। इसके बाद भी इस जिले में शराब माफियाओं के सिंडीकेट को पूरी तरह से तोड़ा नहीं जा सका है। निकाय चुनाव तमाम शराब के शौकीनों के लिए सहालग की तरह आए हैं जहां लोगों के बीच शराब परोस कर लुभाने की कोशिश की जा सकती है। यह अलग बात है कि प्रशासन किसी को किसी प्रकार की छूट देने के मूड में नहीं है।

अपर पुलिस अधीक्षक अमेठी बीसी दूबे ने कहा जहां कही गड़बड़ी होगी कार्यवाही होगी कुछ शराब माफियाओं को जेल भेजा गया था जिसके चलते कुछ भूमिगत है उनपर भी पुलिस की नजर है जैसे ही गड़बडी सामने आएगी उन्हें जेल भेजने का काम किया जाएगा पुलिस लगातार कार्यवाही कर रही है और कार्यवाही का चाबुक माफियाओं दबगों पर चलता रहेगा

{ यह भी पढ़ें:- जमीनी रंजिश में खूनी तांडव, फायरिंग से आधा दर्जन घायल, दो की हालत नाजुक }

बहुत पुराना और शक्तिशाली है अवैध शराब के काले कारोबारियों का सिंडीकेट –

अमेठी में वर्षों से संचालित अवैध शराब के काले कारोबारियों का सिंडीकेट काफी पुराना और शक्तिशाली है यह सिंडीकेट इतना शक्तिशाली है कि अकूत संपत्तियों से भरा हुआ है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले कई वर्षों से अमेठी से लेकर कई जिलों में इस सिंडीकेट के सदस्यों एवं कर्ताधर्ताओं ने बड़े पैमाने पर संपत्तियां बनाई और चुनावों में शराब और चंदा देकर अपना काला धंधा बढ़ाते रहे हैं लिहाजा इनका अच्छा खासा रसूख रहा है तमाम रसूखदारों से नजदीकियां बनाकर अमेठी में यह सिंडीकेट ताकतवर बना और काले कारोबार को छिपाने के लिए सरकारी शराब की दुकानों से भी खुद को जोड़े रखा।

{ यह भी पढ़ें:- अमेठी में मुस्लिम महिलाओं का रिएक्शन- 'गुजरात में Vote For Modi-Vote For BJP' }

वर्षों बाद योगी सरकार में कसा गया काले कारोबारियों पर शिंकजा –

जिले के बेहद ताकतवर एवं माफियागीरी कर भय फैलाने वाले अवैध शराब के काले कारोबारियों के सिंडीकेट पर वर्षो बाद प्रदेश की योगी सरकार में शिंकजा कसा गया अपर पुलिस अधीक्षक अमेठी बीसी दूबे ने इस सिंडीकेट के कई नामी गिरामी को जेल भेजने के साथ ही बडे पैमाने पर में जिले में अवैध और नकली शराब के अड्डों का भंडाभोड कई लोगो को जेल भेजा जिसके बाद इस सिंडीकेट से जुडे तमाम लोग भूमिगत है बताया जाता है कि अभी जनपद के अन्य क्षेत्रो में बैकफुट पर चल रहे शराब माफियाओं से पुलिस को किसी गलती होने का इंतजार है देरसबेर इनको भी दबोचा जा सकता है।

अवैध शराब के खिलाफ प्रशासन का अभियान- 

{ यह भी पढ़ें:- 'इज्जतघर' ना होने से 'पिया के घर' आने से इनकार }

आबकारी और पुलिस विभाग की सँयुक्त टीम ने मिलकर कच्ची शराब के खिलाफ अभियान चलाकर सैकड़ो लीटर कच्ची शराब पकड़ी और हजारों लीटर लहन को भी नष्ट किया। आबकारी विभाग की टीम ने जामो थाना क्षेत्र सहित कई क्षेत्रो में पहुँचकर कार्यवाही की गाँवो में छुपी रखी कई लीटर अवैध शराब भी बरामद की । अपर पुलिस अधीक्षक अमेठी बीसी दुबे ने बताया कि जनपद में अवैध शराब के खिलाफ अभियान चलता रहेगा जो भी शराब बनाते हुए पकड़ा जाएगा उसके विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी।

अमेठी से राम मिश्रा की रिपोर्ट

Loading...