खबर का असर: मुस्लिम महिला ने पेश की बड़ी नजीर, प्रशासन ने सराहा, जल्द होंगे पक्के शौचालय

amethi toilet
अमेठी- घास-फूस से बना शौचालय

Amethi Khabar Ka Asar Banege Pakke Toilet

अमेठी: इंसान अगर मन से कोई काम ठान ले तो वह असंभव नहीं रहता जरूरत है बस इच्छा शक्ति की, अमेठी जनपद के एक गरीब मुस्लिम परिवार ने इच्छाशक्ति मजबूत करते हुए कुछ ऐसा ही कर दिखाया है। उधर, इस खबर को “पर्दाफाश डॉट कॉम” द्वारा वेबसाइट पर प्रमुखता से चलाने के बाद मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) वंशीधर सरोज ने कहा, “घास-फूस से बना शौचालय पक्का किया जायेगा महिला हशरतुल बानो और उसके परिवार द्वारा उठाया गया यह कदम सराहनीय है ऐसे में उन्हें जल्द सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।”

क्या है मामला-

दरअसल, ये मामला अमेठी जनपद के तिलोई तहसील के अंतर्गत गांव गड़रिया डीह में रहने वाले एक मुस्लिम परिवार का है जहाँ सरकारी इमदाद न मिलने पर मुश्ताक और उनकी पत्नी हशरतुल बानो ने पैसे न होने के कारण खुद ही मेहनत-मजदूरी कर घास-फूस से शौचालय का निर्माण कर डाला हशरतुल बानो का कहना है कि प्रधान सहित कई अधिकारियो से लाख गुहार लगाने के बाद जब उनके परिवार को शौचालय की राशि नही उपलब्ध कराई गई तो उन्होंने स्वयं ही शौचालय का निर्माण गन्ने की पाती और घास-फूस के छप्पर से तैयार कर डाला इस शौचालय में गेट भी छप्पर के फूस से बनाया गया है वही शौचालय निर्माण में गड्डा खोदकर टैंक व पक्की सीट लगाई गई है।

महिला के जज्बे को सलाम करने पहुँचे जनपद के उच्च अधिकारी-

इस परिवार के जब्जे की खबर को प्राथमिकता देते हुए 11 जून को पर्दाफाश डॉटकॉम ने “यूपी: सरकार से नहीं मिला पैसा तो मुस्लिम परिवार ने बनाया घास-फूस का शौचालय” शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। हमारी खबर प्रकाशित होने के बाद जिले का प्रशासनिक अमला हरकत में आ गया और महज 24 घन्टे के भीतर ही मुख्य विकास अधिकारी अमेठी वंशीधर सरोज जिला पंचायत राज अधिकारी अमेठी बनवारी सिंह,एडीओ पंचायत धीरेन्द्र कुमार वर्मा, ग्राम प्रधान प्रतिनिधि अर्जुन सिंह व ग्राम विकास अधिकारी के साथ महिला के घर पहुंचे और महिला से बातचीत करते हुये इस काम की सराहना की।

चेक लेने से किया इनकार-

मिली जानकारी के अनुसार निरीक्षण करने पहुचे जनपद के अधिकारी हशरतुल बानो को प्रथम किश्त के रुप मे छह हजार रूपये का चेक भी दे रहे थे लेकिन उसने लेने से साफ इंकार कर दिया और कहा कि हमारा काम चल रहा है जब सब लोगों का बनेगा तो मेरा भी बन जायेगा सूत्र बताते है कि आला अधिकारियों द्वारा काफी मान मनौव्वल भी की गई पर महिला ने चेक स्वीकार नही किया तो निराश होकर अफसरों को बैरंग लौटना पड़ा।
इस गाँव में बने सभी शौचालय पक्के किए जाएंगे।

इस परिवार द्वारा उठाया गया यह कदम सराहनीय है ऐसे में उन्हें जल्द ही हर तरह की सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी- बंशीधर सरोज, मुख्य विकास अधिकारी

रिपोर्ट- राम मिश्रा 

अमेठी: इंसान अगर मन से कोई काम ठान ले तो वह असंभव नहीं रहता जरूरत है बस इच्छा शक्ति की, अमेठी जनपद के एक गरीब मुस्लिम परिवार ने इच्छाशक्ति मजबूत करते हुए कुछ ऐसा ही कर दिखाया है। उधर, इस खबर को "पर्दाफाश डॉट कॉम" द्वारा वेबसाइट पर प्रमुखता से चलाने के बाद मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) वंशीधर सरोज ने कहा, "घास-फूस से बना शौचालय पक्का किया जायेगा महिला हशरतुल बानो और उसके परिवार द्वारा उठाया गया यह कदम सराहनीय…