खून से लिखा चुनाव अयोग के नाम युवक ने पत्र, जानिए क्यों

h

अमेठी। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर की गई टिप्पणी को लेकर अमेठी की जनता नाराज है। यहां लोग इससे इतने नाराज हैं कि यहां कि एक युवक ने पीएम मोदी को लेकर चुनाव आयोग को खून से पत्र लिख दिया और नसीहत दे दी पीएम मोदी वोट के लिए ऐसी बातें न करें जिससे करोड़ों लोगों की भावनाएं आहत हों।

Amethi Man Writes Blood Letter To Election Commission Against Pm Modi Over Rajeev Gandhi Comment :

पत्र लिखने वाले का नाम मनोज कश्यप है और वह अमेठी के शाहगढ़ का रहने वाला है। पत्र में मनोज ने लिखा है कि देश के प्रधानमंत्री द्वारा भारत रत्न और अमेठी के सांसद रहे स्व: राजीव गांधी का अपमान पीड़ादायी व कष्टदायी है। हम सबकी नजरों में राजीव गांधी का अपमान करने वालों के लिए वही भाव है जो उनकी निर्मम हत्या करने वालों के लिए है।

उन्होंने हमें 18 वर्ष की आयु मे मताधिकार के प्रयोग का अधिकार दिया। देश को मजबूत करने के लिए पंचायती राज व्यवस्था दी। कम्प्यूटर क्रांति आदि के कारण विश्व में भारत का गौरव बढ़ाने का काम किया। उनके बारे मे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सरीखे तमाम नेताओं ने आदरपूर्वक लेख लिखे थे। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनका अपमान करके करोड़ों देशवासियों को आहत किया है।

हम अमेठीवासी जन जन आक्रोशित हैं। क्योंकि उनका लहू आतंकवादियों ने गिराया था उसका दर्द तब से आज तक अमेठी के जन जन में है। ये पत्र खून से इसीलिए लिख रहा हूं क्योंकि अमेठी की पवित्र मिट्टी में राजीव गांधी की भावनाएं समाई हुई हैं। चुनाव से पहले मन किया था लेकिन पत्र इसलिए नहीं लिखा कि मेरे दर्द का मतलब राजनीति न निकाला जाए। नरेंद्र मोदी को निर्देशित किया जाए कि वोट के लिए वह ऐसी बातें न बोलें जिससे करोड़ों लोगों की भावना आहत हो।

अमेठी। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर की गई टिप्पणी को लेकर अमेठी की जनता नाराज है। यहां लोग इससे इतने नाराज हैं कि यहां कि एक युवक ने पीएम मोदी को लेकर चुनाव आयोग को खून से पत्र लिख दिया और नसीहत दे दी पीएम मोदी वोट के लिए ऐसी बातें न करें जिससे करोड़ों लोगों की भावनाएं आहत हों। पत्र लिखने वाले का नाम मनोज कश्यप है और वह अमेठी के शाहगढ़ का रहने वाला है। पत्र में मनोज ने लिखा है कि देश के प्रधानमंत्री द्वारा भारत रत्न और अमेठी के सांसद रहे स्व: राजीव गांधी का अपमान पीड़ादायी व कष्टदायी है। हम सबकी नजरों में राजीव गांधी का अपमान करने वालों के लिए वही भाव है जो उनकी निर्मम हत्या करने वालों के लिए है। उन्होंने हमें 18 वर्ष की आयु मे मताधिकार के प्रयोग का अधिकार दिया। देश को मजबूत करने के लिए पंचायती राज व्यवस्था दी। कम्प्यूटर क्रांति आदि के कारण विश्व में भारत का गौरव बढ़ाने का काम किया। उनके बारे मे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सरीखे तमाम नेताओं ने आदरपूर्वक लेख लिखे थे। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनका अपमान करके करोड़ों देशवासियों को आहत किया है। हम अमेठीवासी जन जन आक्रोशित हैं। क्योंकि उनका लहू आतंकवादियों ने गिराया था उसका दर्द तब से आज तक अमेठी के जन जन में है। ये पत्र खून से इसीलिए लिख रहा हूं क्योंकि अमेठी की पवित्र मिट्टी में राजीव गांधी की भावनाएं समाई हुई हैं। चुनाव से पहले मन किया था लेकिन पत्र इसलिए नहीं लिखा कि मेरे दर्द का मतलब राजनीति न निकाला जाए। नरेंद्र मोदी को निर्देशित किया जाए कि वोट के लिए वह ऐसी बातें न बोलें जिससे करोड़ों लोगों की भावना आहत हो।