शोहदे के डर से स्कूल छोड़ा, फिर भी तंग करना नहीं छोड़ा, दे रहा अपहरण की धमकी

amethi-police1
शोहदे के डर से स्कूल छोड़ा, फिर भी तंग करना नहीं छोड़ा, दे रहा अपहरण की धमकी

अमेठी: उत्तर प्रदेश में महिलाओं के प्रति अपराधों पर लगाम नहीं लग रही है। गांव से लेकर शहर तक बेटियों का महफूज रहना कितना मुश्किल है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है। एक किशोरी ने मनचलों के डर से स्कूल जाना छोड़ दिया। किशोरी नौंवी क्लास में पढ़ रही है लेकिन एक सिरफिरे की धमकी के बाद उसकी पढ़ाई पर ग्रहण लगता दिखाई पड़ रहा है। वही दूसरी ओर किशोरी के पिता ने अमेठी पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाया है।

क्या है पूरा प्रकरण-

तहरीर के मुताबिक अमेठी के शुकुलबाज़ार थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गाँव निवासी एक व्यक्ति अपने परिवार के साथ दिल्ली में रहता है और वह अपने परिवार को लेकर फरवरी माह में अपने पैतृक गांव में घर बनवाने के लिए आया था और व्यक्ति की बेटी दिल्ली में नौंवी क्लास की छात्रा है छात्रा के पिता का आरोप है कि इस दौरान गाँव का ही एक युवक अपने परिजनों व तीन-चार साथियों के साथ उसकी 16 वर्षीय बेटी की जबर्दस्ती शादी करने व अपहरण करने की धमकी देने लगा आरोप है कि विगत 3 जुलाई को युवक ने सभी हदें पार करते हुए छात्रा को जबरन उठा ले जाने की धमकी दे डाली पुत्री के अपहरण की धमकी से परिवार में दहशत फैल गई डर की बजह से छात्रा स्कूल नहीं जा रही है।

{ यह भी पढ़ें:- कुछ इस तरह अपनी सियासी जमीन सींचने में जुटी है समाजवादी पार्टी }

गले पर चाकू रखकर भेजी डरावनी फोटो-

छात्रा के पिता बताया कि दबंग युवक ने व्हाट्सऐप के जरिये गले पर चाकू रखकर एक फोटो भेजकर परिवार को बुरा अंजाम भुगतने को तैयार रहने की धमकी दी है जिसके बाद छात्रा का पूरा परिवार खौफजदा है।

पुलिस ने नही की कार्रवाई-

छात्रा के पिता का आरोप है कि जबरिया शादी व अपहरण की धमकी सहित डरावनी फोटो भेजने के बाद बाद पूरा परिवार सहम गया है जिसके बाद छात्रा के पिता ने थानाध्यक्ष शुकुल बाज़ार इस संबंध में शिकायत की लेकिन तहरीर देने के बाद पुलिस ने तहकीकात तो की लेकिन मामला दर्ज नही किया जिससे मजबूर होकर अब छात्रा के पिता ने न्याय के लिए न्यायालय की शरण की लेने की बात कही है ।

{ यह भी पढ़ें:- पड़ोसी से था विवाद तो महिलाओ ने ऐसे निकाली पुरानी रंजिश... }

सबसे बड़ा सवाल-

बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ का नारा खूब उछाला जा रहा है परन्तु सवाल यह है कि आज के दौर में बेटिया कैसे सुरक्षित रहे ? कुल मिलाकर देश में ऐसा विषाक्त वातावरण बन रहा है कि बालिका और छात्राये कहीं सुरक्षित नहीं दिख रही है- न घर में न बाहर और प्रशासन की लापरवाही तो आये दिन सवालों के घेरे में घिरती नजर आ रही है।

इनका कहना है-

मामला संज्ञान में है जाँच की जा रही है उचित कार्रवाई होगी- शिवाकांत पाण्डेय थानाध्यक्ष शुकुल बाजार

रिपोर्ट-राम मिश्रा/अखिलेश शुक्ला

{ यह भी पढ़ें:- यहां आसमान से बरसी आफत, कई घरों में कोहराम }

अमेठी: उत्तर प्रदेश में महिलाओं के प्रति अपराधों पर लगाम नहीं लग रही है। गांव से लेकर शहर तक बेटियों का महफूज रहना कितना मुश्किल है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है। एक किशोरी ने मनचलों के डर से स्कूल जाना छोड़ दिया। किशोरी नौंवी क्लास में पढ़ रही है लेकिन एक सिरफिरे की धमकी के बाद उसकी पढ़ाई पर ग्रहण लगता दिखाई पड़ रहा है। वही दूसरी ओर किशोरी के पिता ने अमेठी पुलिस पर कार्रवाई…
Loading...