एसपी साहब! अमेठी में खत्म हो रहा पुलिस का इकबाल, कानून व्यवस्था बदहाल-जनता बेहाल

अमेठी। प्रदेश के अति विशिष्ट जिले में शुमार अमेठी में कानून व्यवस्था को सुधारने का सपना देख रहे नवेले एसपी कुंतल किशोर को सियासी विसात पर सधी चाल चलनी होगी। सियासत और अपराधियों के तेवरों में कोई बदलाव नहीं है ऐसे में नवागंतुक एसपी को कानून व्यवस्था सुधारने के लिए कठिन परीक्षा देनी होगी।

ताजा हालात का कड़वा सच यह है कि एसपी कुंतलकिशोर के सामने चोरी, तस्करी, हत्या, लूट अवैध खनन, वन कटान, रोकने व अमन को बनाए रखने के साथ पुलिस का इकबाल भी बनाए रखना चुनौती होगा यूपी में आबादी की दृष्टिकोण से अमेठी भले ही छोटा हो, लेकिन अति विशिष्ट जनपद होने और संवेदनशीलता के कारण हमेशा ही प्रशासन के लिए मुसीबत का सबब रही है अभी कल ही शुकुल बाजार थाना क्षेत्र में क्षेत्र पंचायत सदस्य और प्रधान पुत्र पर जानलेवा घटनाओं को अंजाम देते हुई बदमाशों ने नवागत एसपी को चुनौती दे डाली

{ यह भी पढ़ें:- योगी सरकार में मिड डे मील को लगी बुरी नजर, दो महीनों से नहीं पहुंचा बच्चों का राशन }

इस जिले में अराजक तत्व भी समय-समय पर सक्रिय होकर माहौल बिगाड़ने की कोशिश करते रहे हैं पुलिस के इकबाल को भी गिराने की कोशिश की जाती रही है कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठते रहे है इन सबके बीच आइपीएस अधिकारी कुंतल किशोर का पद कांटों से भरे ताज की तरह है हालाकि दो दिन पूर्व आए नए एसपी ने स्पष्ट लहजों में कहा है कि कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

उनका कहना है, पुलिस की पारदर्शितापूर्ण कार्यवाही में हस्तक्षेप तो कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, लेकिन अमेठी इस बात की गवाह रही है कि सियासी हस्तक्षेप के आगे अधिकारी नहीं टिके हैं। ऐसे में योगी जी रामराज्य में भी अमेठी जनपद के एसपी के रूप में कार्यभार ग्रहण करने वाले कुन्तल किशोर को भी कानून व्यवस्था की राह में कठिन परीक्षा देनी होगी।

{ यह भी पढ़ें:- ये हैं यूपी के अच्छे पुलिस वाले, एक आईजी दूसरा दारोगा }

रिपोर्ट-राम मिश्रा

Loading...