‘मुआवजा राशि’ के लिए ‘मुकर’ गए प्रधान, महकमा मौन, मुख्यमंत्री से शिकायत

अमेठी। एक तो कुदरत का कहर उस पर सिस्टम की रूसवाई नतीजा दोहरी मार से पीड़ित ग्रामीणों की हालत पतली। कुछ ऎसे ही हालत अमेठी जिले के शुकुलबाज़ार विकासखण्ड के खुशियालगंज पाली के ग्रामीणों का हैं जहां पिछले माह में आए चक्रवाती तूफान ने भारी तबाही मचाई जिसमें कई घरों के छत उड़ गए और कई परिवार बेघर हो गए।

आपदा के बाद पहुंचे अधिकारी व जनप्रतिनिधियों ने निरीक्षण कर पीडितों को उचित मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया मुवाबजे की राशि गांव तक पहंची भी लेकिन ग्रामीणों का आरोप है कि प्रधानपति ने लेखपाल से मिली भगत कर अपात्रो, सगे सम्बन्धियों को ही राहत राशि दिलवाई जिसको लेकर वंचित ग्रामीणों ने अधिकारियों से गुहार लगाई। बावजूद इसके अब तक उन्हें कोई मुआवजा नहीं मिला और न ही इस ओर किसी अधिकारी व जनप्रतिनिधि का ध्यान गया।

{ यह भी पढ़ें:- खबर का असर: 1000 करोड़ की बंद अमृत योजनाओं की पुनर्समीक्षा करेगा जल निगम }

ग्रामीणो ने मुआवजे की आस लिए प्रशासनिक कार्यालयो के चक्कर भी काटे लेकिन कोरे आश्वासन के अलावा कुछ हाथ नहीं लगा जिससे आजिज आकर वंचित ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से न्याय की गुहार लगाई है।

ग्रामीणों ने प्रधानपति पर लगाया आरोप-

{ यह भी पढ़ें:- छात्राओं को अक्सर छेड़ता था मनचला, परिजनों ने धुनाई के बाद पुलिस को सौंपा }

शुकुलबाज़ार के खुशियालगंज पाली के ग्रामीणों ने चक्रवाती मुआवजा वितरण में प्रधानपति व लेखपाल पर पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा है कि मुआवजे के हकदार पीड़ित ग्रामीणों को मुआवजे से वंचित कर दिया प्रधानपति ने लेखपाल से मिली भगत कर पीड़ित ग्रामीणों से भेदभाव दिखाते हुए अपनी बिरादरी चहेते, सगे सम्बन्धियों व आपात्रो को ही मुवाबजा दिलवाया जिसको लेकर वंचित ग्रामीणों द्वारा जाँच की मांग की गयी है।

मन्त्री ने दिया था मदद का आश्वासन-

ग्रामीणों ने बताया कि राज्यमंत्री सुरेश पासी ने गाँव पहुंचकर चक्रवात-पीड़ित ग्रामीणों से मुलाकात की थी और उनके प्रति सहानुभूति व्यक्त करते हुए हरसम्भव सहायता का भरोसा दिया भी था लेकिन ग्रामीणों का आरोप है कि प्रधानपति के अत्याचार और विभागीय भ्रष्टाचार के चलते मुआबजे की राशि सिर्फ अपात्रो को ही मिली।

{ यह भी पढ़ें:- लूट के इरादे से गैस एजेंसी कर्मी पर झोंका फायर }

इनको नहीं मिला मुआवजा-

ग्रामीणों ने बताया कि राम आनंद पासी, सुमेराज पासी,बुधराम राम गरीब चमार,जीत बहादुर,जगजीवन कश्यप,सहजू, चन्दर पाल आदि को चक्रवाती मुआवजे से वंचित किया गया है ।

रिपोर्ट@राम मिश्रा

{ यह भी पढ़ें:- जिला पंचायत अध्यक्ष ने लगाये 'मेरे सैंय्या सुपरस्टार' पर ठुमके, वायरल हुआ वीडियो }

Loading...