दर-किनार योगी जी का फरमान, ओवरलोडिंग बेलगाम

amethi-overloading
अमेठी: ओवरलोड वाहनों के कारण हाईवे व लिंक मार्गो पर दुर्घटनाएं हो रही हैं और लोग अपनी जिन्दगी से हाथ धो रहे हैं। इन वाहनों की तरफ न तो पुलिस प्रशासन का ध्यान होता है और न ही ट्रांसपोर्ट विभाग का। सड़कों पर यमदूत बन कर घूम रहे यह वाहन किसी भी समय दुर्घटना को निमंत्रण दे सकते हैं। 'हाइवे पर हादसे' को निमंत्रण दे रहे ओवरलोड वाहन- लखनऊ वाराणसी राजमार्ग सँख्या-56 पर तो बिना रोक-टोक सड़कों पर भाग रहे…

अमेठी: ओवरलोड वाहनों के कारण हाईवे व लिंक मार्गो पर दुर्घटनाएं हो रही हैं और लोग अपनी जिन्दगी से हाथ धो रहे हैं। इन वाहनों की तरफ न तो पुलिस प्रशासन का ध्यान होता है और न ही ट्रांसपोर्ट विभाग का। सड़कों पर यमदूत बन कर घूम रहे यह वाहन किसी भी समय दुर्घटना को निमंत्रण दे सकते हैं।

‘हाइवे पर हादसे’ को निमंत्रण दे रहे ओवरलोड वाहन-

{ यह भी पढ़ें:- आस्था या अंधविश्वास: भगवान कृष्ण की मूर्ति पी रही दूध, देखें वीडियो }

लखनऊ वाराणसी राजमार्ग सँख्या-56 पर तो बिना रोक-टोक सड़कों पर भाग रहे ओवरलोड वाहन जहां दुर्घटनाओं को निमंत्रण दे रहे हैं। वहीं ट्रैफिक नियमों की धज्जियां उड़ा कर कायदे-कानून को नजर अंदाज करते हुए मानवीय जीवन से खिलवाड़ भी किया जा रहा है, जिस कारण अक्सर ही यह ओवरलोड वाहन भयानक दुर्घटनाओं का शिकार हो रहे हैं।

विभाग कर रहा अनदेखी-

{ यह भी पढ़ें:- अमेठी : न्याय की आस में पत्रकारों का धरना जारी }

पुलिस इन ओवरलोड वाहनों पर अंकुश नहीं लगा रही जिस अमेठी में यह ओवरलोड वाहन सरेआम पुलिस की आंखों समक्ष सड़कों से गुजर रहे हैं। चंद पैसों की खातिर जरूरत से अधिक सामान वाहन पर लोड करके यह लोग दुर्घटनाओं को निमंत्रण दे रहे हैं क्योंकि भीड़ वाले क्षेत्र से निकलने वाले यह वाहन अक्सर ही दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं। इसलिए पुलिस को पूरी सख्ती से इन ओवरलोड वाहनों का चालान काट कर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए ताकि भविष्य में दुर्घटना न हो सके पुलिस स्कूटरों, मोटर साइकिलों के चालान काटने तक ही सीमित होकर रह गई है।

ओवरलोड वाहनों से सड़क दे रही जवाब-

इन दिनों ओवर लोड परिवहनो के कारण मुख्य मार्गों पर वाहन का दबाव बढ़ गया है। एक ओर जहा ओवरलोड वाहन दुर्घटना को निमंत्रण दे रहे है, वहीं सड़कें भी जवाब देने लगी है।

रिपोर्ट-राम मिश्रा

{ यह भी पढ़ें:- हमारे साथी 'पत्रकार' की पीड़ा को महसूस कीजिए ‘सरकार' }

Loading...