कुछ इस तरह अपनी सियासी जमीन सींचने में जुटी है समाजवादी पार्टी

amethi-sapa
कुछ इस तरह अपनी सियासी जमीन सींचने में जुटी है समाजवादी पार्टी

अमेठी: उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में मानसून की बारिश के बाद हुए जलभराव पर राजनीति शुरु हो गई है। समाजवादी पार्टी ने जलभराव को सरकार और प्रशासनिक अमला का फेलियोरनेस बताते हुए सोमवार को योगी सरकार को घेरने का प्रयास किया। अमेठी जिले के जगदीशपुर 184 विधानसभा के शुकुल बाजार विकासखण्ड अंतर्गत इन्हौना रोड मवैय्या चौराहे पर पानी जमा होने पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उस पानी में धान का पौधा लगाकर प्रदर्शन किया।

Amethi Samajwadi Party :

सियासी जमीन सींचने में जुटी सपा-

दरअसल, समाजवादी पार्टी जल भराव के बहाने यूपी में अपनी सियासी जमीन सींच रही है। इस मौसम में रूक-रूक कर हो रही बारिश ने अमेठी प्रशासन के दावों की पोल खोल दी है। ऐसे में विपक्षी राजनीतिक पार्टियां सरकार को घेरने में जुटी हैं।

amethi-sapa
सपा कार्यकर्ता

मुसीबत का सबब बने गड्ढे-

उत्तर प्रदेश की कमान योगी आदित्यनाथ के हाथों में आते ही सरकार की ओर से वादा किया गया कि सूबे की प्रत्येक सड़क गड्ढा मुक्त होगी वर्ष 2017 में इसके लिए 15 जून की तारीख भी तय कर दी गई हालांकि, बाद में वक्त को बढ़ा दिया गया बहरहाल अमेठी में कई जगहों पर सड़कों पर आज भी ऐसे गड्ढे हैं,जो मुसीबत का सबब बने हुए हैं । इन्हौना से रीछघाट जाते वक्त सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे हैं,जिनकी चपेट में आकर अक्सर गाड़ियां खराब हो जाती हैं चौंकाने वाली बात यह है कि यह स्थिति आज से नहीं बल्कि पिछले कई वर्षों से है।

जानिए, क्या कहते हैं स्थानीय-

इस पूरे मामले में शुकुलबाज़ार कस्बे के स्थानीय निवासी मवैय्या रहमत गढ़ के प्रधान प्रतिनिधि जगदीशपाल ने बताया कि तकरीबन पन्द्रह किलोमीटर तक मार्ग बुरी तरह से क्षतिग्रस्त है, जिसकी वजह से प्राइवेट बसें हों या फिर मौरंग से लदे वाहन आए दिन खराब हो जाते हैं यही नहीं, कई बार तो इन गड्ढों की चपेट में आकर सड़क दुर्घटनाएं भी होती हैं इसके बावजूद गड्ढों से मुक्ति अभी तक नहीं मिली है हम बस सरकार तक एक ही बात पहुंचाना चाहते हैं कि आप तो आ गए गड्ढामुक्त करने का वादा भी किया लेकिन इन्हौना से रीछ घाट तक मार्ग आज भी बदहाल है।

खोखले वादों और जुमलों की भाजपा सरकार-

छोटेलाल यादव अमेठी की सड़कों पर जलभराव होने से सपा ने सरकार के गढ्डामुक्त अभियान पर चुटकी ली है अमेठी के सपा जिलाध्यक्ष छोटे लाल यादव ने कहा कि जिस तरह गड्ढामुक्त सडक़ का दावा भाजपा सरकार ने किया था उसकी असलियत और दावे की पोल बारिश ने खोल दी है।

छोटेलाल यादव ने कहा कि अमेठी में जरा सी बारिश होने पर पूरे इलाका जलमग्न हो जाता है न सही सीवेज सिस्टम,गड्ढा मुक्तसड़कें, सरकार सिर्फ जनता के साथ धोखा करने में लगी हुई है जिसकी वजह से लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि अमेठी की सडक़ों और नालियों की हालत बदतर है खोखले वादों और जुमलों की भाजपा सरकार अपने वादों पर कभी भी खरा न उतरने का रिकार्ड बना चुकी है।

यहां सड़को के गड्डो में रोप गए धान के पौधे-

गौरतलब है कि वर्षों से इन्हौना-रुदौली के मुख्य मार्ग खराब है सड़क पर बड़े बड़े गड्ढे हो गए हैं। जिससे बारिश में यहां कीचड़ हो गया सोमवार को विधानसभा अध्यक्ष हनुमान पासी की अगुवाई में सपा कार्यकर्ताओं ने इसका विरोध करते भाजपा सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा इस दौरान शुकुलबाजार ब्लाकअध्यक्ष राजभवन पाल जिला सचिव भवानी प्रसाद पाल,सरोज कोरी,सोनू किशनी,समेत बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

रिपोर्ट-राम मिश्रा

अमेठी: उत्तर प्रदेश के अमेठी जिले में मानसून की बारिश के बाद हुए जलभराव पर राजनीति शुरु हो गई है। समाजवादी पार्टी ने जलभराव को सरकार और प्रशासनिक अमला का फेलियोरनेस बताते हुए सोमवार को योगी सरकार को घेरने का प्रयास किया। अमेठी जिले के जगदीशपुर 184 विधानसभा के शुकुल बाजार विकासखण्ड अंतर्गत इन्हौना रोड मवैय्या चौराहे पर पानी जमा होने पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उस पानी में धान का पौधा लगाकर प्रदर्शन किया।

सियासी जमीन सींचने में जुटी सपा-

दरअसल, समाजवादी पार्टी जल भराव के बहाने यूपी में अपनी सियासी जमीन सींच रही है। इस मौसम में रूक-रूक कर हो रही बारिश ने अमेठी प्रशासन के दावों की पोल खोल दी है। ऐसे में विपक्षी राजनीतिक पार्टियां सरकार को घेरने में जुटी हैं। [caption id="attachment_298660" align="aligncenter" width="723"]amethi-sapa सपा कार्यकर्ता[/caption]

मुसीबत का सबब बने गड्ढे-

उत्तर प्रदेश की कमान योगी आदित्यनाथ के हाथों में आते ही सरकार की ओर से वादा किया गया कि सूबे की प्रत्येक सड़क गड्ढा मुक्त होगी वर्ष 2017 में इसके लिए 15 जून की तारीख भी तय कर दी गई हालांकि, बाद में वक्त को बढ़ा दिया गया बहरहाल अमेठी में कई जगहों पर सड़कों पर आज भी ऐसे गड्ढे हैं,जो मुसीबत का सबब बने हुए हैं । इन्हौना से रीछघाट जाते वक्त सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे हैं,जिनकी चपेट में आकर अक्सर गाड़ियां खराब हो जाती हैं चौंकाने वाली बात यह है कि यह स्थिति आज से नहीं बल्कि पिछले कई वर्षों से है।

जानिए, क्या कहते हैं स्थानीय-

इस पूरे मामले में शुकुलबाज़ार कस्बे के स्थानीय निवासी मवैय्या रहमत गढ़ के प्रधान प्रतिनिधि जगदीशपाल ने बताया कि तकरीबन पन्द्रह किलोमीटर तक मार्ग बुरी तरह से क्षतिग्रस्त है, जिसकी वजह से प्राइवेट बसें हों या फिर मौरंग से लदे वाहन आए दिन खराब हो जाते हैं यही नहीं, कई बार तो इन गड्ढों की चपेट में आकर सड़क दुर्घटनाएं भी होती हैं इसके बावजूद गड्ढों से मुक्ति अभी तक नहीं मिली है हम बस सरकार तक एक ही बात पहुंचाना चाहते हैं कि आप तो आ गए गड्ढामुक्त करने का वादा भी किया लेकिन इन्हौना से रीछ घाट तक मार्ग आज भी बदहाल है।

खोखले वादों और जुमलों की भाजपा सरकार-

छोटेलाल यादव अमेठी की सड़कों पर जलभराव होने से सपा ने सरकार के गढ्डामुक्त अभियान पर चुटकी ली है अमेठी के सपा जिलाध्यक्ष छोटे लाल यादव ने कहा कि जिस तरह गड्ढामुक्त सडक़ का दावा भाजपा सरकार ने किया था उसकी असलियत और दावे की पोल बारिश ने खोल दी है। छोटेलाल यादव ने कहा कि अमेठी में जरा सी बारिश होने पर पूरे इलाका जलमग्न हो जाता है न सही सीवेज सिस्टम,गड्ढा मुक्तसड़कें, सरकार सिर्फ जनता के साथ धोखा करने में लगी हुई है जिसकी वजह से लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि अमेठी की सडक़ों और नालियों की हालत बदतर है खोखले वादों और जुमलों की भाजपा सरकार अपने वादों पर कभी भी खरा न उतरने का रिकार्ड बना चुकी है।

यहां सड़को के गड्डो में रोप गए धान के पौधे-

गौरतलब है कि वर्षों से इन्हौना-रुदौली के मुख्य मार्ग खराब है सड़क पर बड़े बड़े गड्ढे हो गए हैं। जिससे बारिश में यहां कीचड़ हो गया सोमवार को विधानसभा अध्यक्ष हनुमान पासी की अगुवाई में सपा कार्यकर्ताओं ने इसका विरोध करते भाजपा सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा इस दौरान शुकुलबाजार ब्लाकअध्यक्ष राजभवन पाल जिला सचिव भवानी प्रसाद पाल,सरोज कोरी,सोनू किशनी,समेत बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे। रिपोर्ट-राम मिश्रा