अमेठी में मुस्लिम महिलाओं का रिएक्शन- ‘गुजरात में Vote For Modi-Vote For BJP’

amethi2

Amethi Vote For Modi Vote For Bjp

अमेठी। गुजरात में पीएम मोदी के किले को भेदने के लिये राहुल गांधी सवाल पर सवाल दाग़ आंकड़ों की बाजीगरी करते नज़र आ रहे हैं और इधर खुद उनके पुश्तैनी किले अमेठी का आलम ये है के परत दर परत ढ़हता चला जा रहा। असेम्बली इलेक्शन में सूपड़ा साफ होने के बाद निकाय चुनाव में भी वो धरातल पर आ गये। गम्भीर बात ये के जिन मुस्लिम वोटरों के बदौलत वो जीतते आये अब उन्होंने ने भी “Vote For Modi, Vote For Bjp” का नारा बुलंद कर दिया है।

हैरानी की बात ये है कि अमेठी में राहुल के खिलाफ ये रिएक्शन मुस्लिम पुरुषों ने नहीं महिलाओं ने दिया है।

तीन तलाक़ के मुद्दे पर हम मोदी जी के साथ

गुरुवार को अमेठी के जगदीशपुर डाक बंगले में सैकड़ों की संख्या में मुस्लिम महिलाएँ हाथों में फ्लैक्स लेकर जब दिखाई पड़ी तो हर किसी की आंखे इस दृष्य को देखने के लिये ठहर गईं। मुस्लिम महिलाओं ने हाथों में जो फ्लैक्स ले रखा था उस पर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखा था ” Vote For Modi, Vote For Bjp”। यही नहीं एक दूसरे फ्लैक्स पर तो लिखा मिला कि ‘तीन तलाक़ के मुद्दे पर हम मोदी जी के साथ हैं’ और फिर गुजरात की महिलाओं से बीजेपी को वोट करने की बात फ्लैक्स पर लिखी थी।

राहुल की अमेठी की महिलाओं ने गुजरात की महिलाओं से की ये अपील

आपको बता दें कि इन मुस्लिम महिलाओं ने अपने हाथों में हैंडबिल भी ले रखे थे, जिस पर लिखा मिला के हम सभी महिलाएँ वर्षों से चली आ रही तीन तलाक़ की कुप्रथा को मोदी सरकार द्बारा समाप्त करने के निर्णय से प्रसन्न हैं। अब केंद्र में ऐसी सरकार है जो हम महिलाओं की दयनीय स्थित सुधारने पर ध्यान दे रही। इससे हमारा स्वाभिमान बढ़ा है, हम महिलाओं के उत्पीड़न को ख़त्म करने वाले, हमारे अधिकारों का समर्थन करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद ज्ञापित करते हैं।

हम सभी महिलाएँ गुजरात की महिलाओं से अपील करते हैं आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी को अपना अमूल मत देकर पुनः गुजरात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों को मज़बूत करें।

मुस्लिम वोटर्स तुष्टीकरण की जंजीर से होना चाह रहे आज़ाद

कांग्रेस के अभेद दुर्ग एवं राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र में बुर्का ओढ़कर मोदी के समर्थन में उतरी महिलाओं के रिएक्शन पर अमेठी के एक्स्पर्ट ने जो कुछ कहा वो भी विचारनीय है वही अमेठी के रणनीतिक पण्डितो ने कहा कि अमेठी के अल्पसंख्यक वोटर ठगे-छले गये, इनके वोट लिये गये लेकिन इनका विकास नहीं हुआ आजतक अल्पसंख्यकों के लिये न यहां कोई यूनिवर्सिटी बनी न कालेज, न ही इनकी एजुकेशन को मायने दिया गया।

इसी वर्ष शुकुल बाज़ार थाने के महोना में एक ही परिवार के 11 सदस्यों की हत्या हुई। राहुल गांधी आजतक वहां नहीं गये, केस में कोई पैरवी नहीं की इस सबसे लोगों में आक्रोश है। जिसका नतीजा असेम्बली इलेक्शन ही में देखने को मिला के अपवाद में बीजेपी प्रत्याशी रामलखन पासी ने कभी जगदीशपुर सीट जीती थी और अब फिर ये बीजेपी के पास है।

गौरीगंज असेम्बली सीट से सैकड़ों से हारने वाली कांग्रेस इस असेम्बली इलेक्शन में कई हजार वोटों से हारी। ये रिएक्शन बता रहा है के यहां के मुस्लिम वोटर्स तुष्टीकरण की जंजीर से आज़ाद होकर अपने विकास के लिये स्मृति ईरानी और नरेंद्र मोदी की तरफ़ टकटकी लगाये हैं।

रिपोर्ट-राम मिश्रा

अमेठी। गुजरात में पीएम मोदी के किले को भेदने के लिये राहुल गांधी सवाल पर सवाल दाग़ आंकड़ों की बाजीगरी करते नज़र आ रहे हैं और इधर खुद उनके पुश्तैनी किले अमेठी का आलम ये है के परत दर परत ढ़हता चला जा रहा। असेम्बली इलेक्शन में सूपड़ा साफ होने के बाद निकाय चुनाव में भी वो धरातल पर आ गये। गम्भीर बात ये के जिन मुस्लिम वोटरों के बदौलत वो जीतते आये अब उन्होंने ने भी "Vote For Modi,…