1. हिन्दी समाचार
  2. वंदे भारत एक्सप्रेस को अमित शाह ने दिखाई हरी झंडी, बोले- जम्मू-कश्मीर को यह बड़ा तोहफा

वंदे भारत एक्सप्रेस को अमित शाह ने दिखाई हरी झंडी, बोले- जम्मू-कश्मीर को यह बड़ा तोहफा

By बलराम सिंह 
Updated Date

Amit Shah Flagged Off Vande Bharat Express Said This Great Gift To Jammu And Kashmir

नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गुुरुवार को दिल्ली-कटरा वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर कटरा के लिए रवाना किया। अमित शाह ने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया और वंदे भारत एक्सप्रेस को दिल्ली से कटरा के लिए हरी झंडी दिखाई। इस ट्रेन का नियमित संचालन पांच अक्तूबर से शुरू होगा। ट्रेन के टिकटों की बुकिंग आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर शुरू हो गई है। हाई स्पीड ट्रेन चलने से दिल्ली और कटरा के बीच यात्रा का समय 12 घंटे से कम होकर आठ घंटे रह जाएगा।

पढ़ें :- इसुजु डी-मैक्स हाई-लैंडर पर है डिस्काउंट जानिए किस किस को मिल सकता है इस ऑफर का फायदा

नई दिल्ली में अमित शाह ने जब नई दिल्ली से कटरा जाने वाली वंदे मातरम एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई तब उनके साथ रेल मंत्री पीयूष गोयल, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और हर्षवर्धन भी मौजूद थे। वंदे मातरम एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाने से पहले अमित शाह ने एक कार्यक्रम को संबोधित किया और कहा कि यह ट्रेन पूरी तरह से मेड इन इंडिया है।

अमित शाह ने कहा कि गांधी के जीवन से रेल को निकाल दिया जाए तो आजादी का आंदोलन अधूरा रह जाएगा। मोहनदास से महात्मा बनने का सफर भी तब शुरू हुआ जब बापू को बेइज्जत कर ट्रेन से निकाल दिया गया। जब तक इस देश को जानने की बात आई थी और कम समय में यह असंभव था तो महात्मा ने ट्रेन को चुना। उन्होंने छह साल तक ट्रेन की थर्ड क्लास में बैठकर सफर किया और देश को जानने की प्रक्रिया में आगे बढ़े। रेलवे का उपयोग पूज्य बापू ने आजादी के आंदोलन में भरपूर रूप से किया। बापू के कपड़े छोड़ने का आंदोलन भी रेलवे से ही शुरू हुआ जब उन्हें एक गरीब महिला फटे कपड़ों में मिली। बापू के हर आंदोलन चाहे वह चंपारण हो या अन्य कोई उसमें रेलवे का बहुत बड़ा योगदान रहा। यह ट्रेन पूरी तरह से स्वदेशी है और इसका हर पुर्जा भारत में बना है जो मेक इन इंडिया की परिकल्पना को चरितार्थ करता है।

यह ट्रेन रास्ते में अंबाला कैंट, लुधियाना और जम्मू तवी स्टेशनों पर 2-2 मिनट के लिए रूकेगी। ट्रेन मंगलवार को छोड़कर सभी दिनों चलेगी। पहली वंदे भारत एक्सप्रेस को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली-वाराणसी मार्ग पर हरी झंडी दिखाई थी। नयी दिल्ली और मााता वैष्णो देवी कटरा के बीच चेयर कार (सीसी) का न्यूनतम किराया 1630 रुपया है, जबकि एग्जीक्यूटिव चेयर कार के लिए 3015 रुपये खर्च करने होंगे। रेलवे ने दिल्ली-कटरा वंदे भारत में भी ‘डायनामिक फेयर’ लागू नहीं किया है। दिल्ली और वाराणसी के बीच चलने वाली वंदे भारत में भी यह किराया प्रणाली लागू नहीं है। नई दिल्ली और श्रीमाता वैष्णो देवी कटरा के बीच न्यूनतम किराया 1630 रुपया है और अधिकतम किराया 3015 रुपये है। गौरतलब है कि यह देश में चलने वाली दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस है। पहली वंदे भारत एक्सप्रेस को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 फरवरी को दिल्ली-वाराणसी मार्ग पर हरी झंडी दिखाई थी।

बता दें कि श्री माता वैष्णो देवी के दर्शनार्थियों के लिए बहुप्रतीक्षित वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का दूसरा ट्रायल भी सफल रहा। पांच अक्तूबर से ट्रेन का परिचालन सप्ताह में छह दिन होगा। शनिवार को दूसरे ट्रायल में भी ट्रेन का परिचालन तमाम तकनीकी कसौटियों पर खरा उतरा। वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन सुबह छह बजे दिल्ली से कटरा के लिए रवाना की गई। ट्रेन अंबाला, लुधियाना, जम्मूतवी स्टेशनों से होकर दोपहर दो बजे कटरा स्टेशन पर पहुंची।

पढ़ें :- राज्य सरकारें पत्रकार और उनके परिवार के सदस्यों को मेडिकल की सुविधा दे रही, तो योगी सरकार पीछे क्यों ?

ट्रेन का यह रहेगा शेड्यूल

वंदे भारत एक्सप्रेस नई दिल्ली स्टेशन से सुबह 6.00 बजे रवाना होगी। इसके बाद अंबाला स्टेशन पर ट्रेन का आगमन 8 .10 बजे और प्रस्थान 8.12 पर होगा। यहां से लुधियाना स्टेशन पर आगमन 9.19 बजे और प्रस्थान 9.21 बजे होगा। जम्मू स्टेशन आगमन 12.38 बजे और प्रस्थान 12.40 बजे होगा। इसके बाद कटरा में आगमन 14.00 बजे और कटरा से वापस रवानगी दोपहर 15.00 बजे होगी। इसके बाद जम्मू आगमन 16.13 बजे और प्रस्थान 16.15 बजे होगा। लुधियाना में आगमन 19.32 बजे और प्रस्थान 19.34 बजे होगा। इसके बाद अंबाला में आगमन 20.48 बजे और रवानगी 20.50 बजे होगी। यहां से यह ट्रेन 23:00 बजे नई दिल्ली स्टेशन पर पहुंचेगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X