अमित शाह की संपत्ति पर बीजेपी की सफाई, प्रेस रिलीज जारी कर रखी अपनी बात

नई दिल्ली। बीजेपी प्रमुख अमित शाह की संपत्ति में 300 फीसद की इजाफे की खबरे मीडिया में खूब तेज़ी से चल रही हैं, कुछ प्रमुख समाचार अखबारों ने इस खबर को प्राथमिकता से चलाया है। इन खबरों का हवाला देकर विपक्ष भी अमित शाह समेत बीजेपी को घेरने में लगी हुई है। मामला तूल पकड़ता देख पार्टी ने इस खबरों का खंडन करते हुए प्रेस रिलीज जारी किया है। जिसमे पार्टी अध्यक्ष की संपत्ति में तीन गुना बढ़ोतरी पर कहा गया है कि राज्यसभा के नामांकन के दौरान अमित शाह द्वारा उल्लेख की गई संपत्ति में वृद्धि की खबरें जो प्रकाशित की गई हैं दुखद हैं। उक्त सामाचारों में हलफनामें में दिए गए विवरण को या तो पूर्णत: अध्ययन नहीं किया है या ऐसा करने की जरूरत नहीं समझी गई।

इसके बाद विज्ञप्ती संपत्ति में आए उछाल का कारण बताते हुए लिखा गया है कि साल 2012 में पेश किए गए हलफनामें में सपष्ट है कि अमित शाह जी और उनकी पत्नी श्रीमती सोनल बेन की चल अचल संपत्ति कुल 10.99 करोड़ रुपए थी। उनकी स्वर्गवासी माता कुसुम जैन जी के निधन के बाद पैतृक संपत्ति (18.85 करोड़) अमित शाह जी को कोर्ट के माध्यम से 28.02.2013 को प्राप्त हुई है। इससे साल 2013 से उनकी संपत्ति 29.84 करोड़ रुपए हो गई थी जो अब 34.31 करोड़ है। इसमें से अधिकांश वृद्धि सम्पत्ति के मूल्यवृद्धि के कारण हुई है।

इससे पहले अमित शाह की संपत्ति में इस भारी बढ़ोत्तरी की खबर अगले दिन शनिवार 29 जुलाई को देश के कई अखबारों में छपीं। प्रमुख अंग्रेजी अखबारों में से एक ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ और ‘इकोनॉमिक टाइम्स’ ने भी अपने वेबसाइट पर इस खबर को प्रकाशित किया था। हालांकि बाद में ये खबरें कई न्यूज वेबसाइट ने हटा ली अब पार्टी ने भी इन खबरों पर स्पष्टीकरण जारी कर दिया है।