अमित शाह ने पहली बार किया बेटे का बचाव, बोले- भ्रष्टाचार का तो कोई सवाल ही नहीं उठता

amit

नई दिल्ली। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपने बेटे जय शाह की कंपनी पर लग रहे भ्रष्टाचार के आरोप पर चुप्पी थोड़ी है। शाह ने एक निजी चैनल से इंटरव्यू के दौयन जय शाह से जुड़े सवाल पूछे जाने पर कहा, जय शाह की कंपनी में कोई गड़बड़ी नहीं हुई है जिसका प्रमाण है उनके द्वारा सौ करोड़ का मानहानि का केस क्योंकि कांग्रेस पर आजादी के बाद से इतने आरोप लगने के बाद भी कभी उस पार्टी में इतना नैतिक साहस नहीं हुआ कि वो ऐसा केस कर पाती।

Amit Shah Replies First Time Over Corruption Charges At Jai Shah :

अमित शाह ने कहा कि मैं पहले स्पष्ट कर दूं कि कंपनी ने एक रुपये का व्यापार सरकार के साथ नहीं किया है, एक रुपये की मदद नहीं ली है, सरकारी जमीन नहीं ली है और न ही बोफोर्स की तरह दलाली खाई है तो इसमें करप्शन का सवाल ही पैदा नहीं होता। गौरतलब है कि गुजरात में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी इस मुद्दे को जमकर भुना रहे हैं। बता दें, गुजरात में विधानसभा चुनाव नजदीक है ऐसे में यह मुद्दा बेहद खास हो जाता है। जानकारों की माने तो इसे जल्द से जल्द ठंडे बस्ते में डालना होगा नहीं तो खामियाजा बीजेपी को आगामी चुनाव में भुगतना पड़ सकता है।

आपको बता दें कि न्यूज वेबसाइट ‘द वायर’ की ओर से दावा किया गया है कि जय शाह की कंपनी का टर्नओवर अचनाक से कई गुना टर्नओवर बढ़ गया है और खबर में इस पर संदेह जाहिर किया गया। इस मामले के सामने आने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने प्रेस कांन्फ्रेंस कर जांच मांग कर दी। वहीं बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने भी अमित शाह को निशाने पर ले लिया था।

नई दिल्ली। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपने बेटे जय शाह की कंपनी पर लग रहे भ्रष्टाचार के आरोप पर चुप्पी थोड़ी है। शाह ने एक निजी चैनल से इंटरव्यू के दौयन जय शाह से जुड़े सवाल पूछे जाने पर कहा, जय शाह की कंपनी में कोई गड़बड़ी नहीं हुई है जिसका प्रमाण है उनके द्वारा सौ करोड़ का मानहानि का केस क्योंकि कांग्रेस पर आजादी के बाद से इतने आरोप लगने के बाद भी कभी उस पार्टी में इतना नैतिक साहस नहीं हुआ कि वो ऐसा केस कर पाती।अमित शाह ने कहा कि मैं पहले स्पष्ट कर दूं कि कंपनी ने एक रुपये का व्यापार सरकार के साथ नहीं किया है, एक रुपये की मदद नहीं ली है, सरकारी जमीन नहीं ली है और न ही बोफोर्स की तरह दलाली खाई है तो इसमें करप्शन का सवाल ही पैदा नहीं होता। गौरतलब है कि गुजरात में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी इस मुद्दे को जमकर भुना रहे हैं। बता दें, गुजरात में विधानसभा चुनाव नजदीक है ऐसे में यह मुद्दा बेहद खास हो जाता है। जानकारों की माने तो इसे जल्द से जल्द ठंडे बस्ते में डालना होगा नहीं तो खामियाजा बीजेपी को आगामी चुनाव में भुगतना पड़ सकता है।आपको बता दें कि न्यूज वेबसाइट 'द वायर' की ओर से दावा किया गया है कि जय शाह की कंपनी का टर्नओवर अचनाक से कई गुना टर्नओवर बढ़ गया है और खबर में इस पर संदेह जाहिर किया गया। इस मामले के सामने आने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने प्रेस कांन्फ्रेंस कर जांच मांग कर दी। वहीं बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने भी अमित शाह को निशाने पर ले लिया था।