गोरखपुर: अमित शाह के रोड शो से पहले हटाये गए बीजेपी के झंडे और पोस्टर, पुलिस से भिड़े कार्यकर्ता

Amit Shah Road Show Gorakhpur Uttar Pradesh

लखनऊ| यूपी के गोरखपुर में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो से पहले ही वहां पुलिस प्रशासन ने बीजेपी के पोस्टर और झंडे हटा दिए गए जिसको लेकर बीजेपी कार्यकर्ताओं की पुलिस झड़प हो गई| कार्यकर्ताओं के साथ राज्य सभा सदस्य शिव प्रताप शुक्ल मौके पर पहुंचे और उन्होंने पुलिस के आलाधिकारियों से इस पर अपनी आपत्ति जताई लेकिन पुलिस वालों ने उनकी एक न सुनी| पुलिस का कहना था कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने बिना अनुमति लिए यहां बैनर और पोस्टर्स लगाए थे जिनको हटा दिया गया है|




दरअसल, गुरुवार को अमित शाह के रोड शो तैयारियों के लिए जहां-तहां पार्टी कार्यकर्ताओं ने पोस्टर बैनर लगा रखे थे| अमित शाह के रोड शो से पहले वहां पहुंचे प्रशासनिक अमले ने इन झंडे और पोस्टरों को हटा दिया जिसे लेकर विवाद शुरू हो गया| पुलिस वालों के पोस्टर बैनर हटाते ही बीजेपी कार्यकर्ताओं की उनसे बहस हुई| बहस धीरे-धीरे झड़प में तब्दील हो गई|




ये घटना गोरखपुर में टाउन हॉल के पास हुई| पुलिस ने कहा कि चुनाव आयोग से यहां बैनर और पोस्टर लगाने की अनुमति नहीं है| जबकि कार्यकर्तों का कहना था कि पुलिस ने घरों पर लगे झंडे-पोस्टर को भी उखाड़ फेंका| कार्यकर्ताओं का कहना था कि अगर कोई व्यक्ति अपने घर पर झंडे-पोस्टर लगाना चाहता है तो उसे हटाया नहीं जा सकता|

लखनऊ| यूपी के गोरखपुर में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो से पहले ही वहां पुलिस प्रशासन ने बीजेपी के पोस्टर और झंडे हटा दिए गए जिसको लेकर बीजेपी कार्यकर्ताओं की पुलिस झड़प हो गई| कार्यकर्ताओं के साथ राज्य सभा सदस्य शिव प्रताप शुक्ल मौके पर पहुंचे और उन्होंने पुलिस के आलाधिकारियों से इस पर अपनी आपत्ति जताई लेकिन पुलिस वालों ने उनकी एक न सुनी| पुलिस का कहना था कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने बिना अनुमति लिए यहां बैनर और पोस्टर्स लगाए थे जिनको हटा दिया गया है| दरअसल, गुरुवार को अमित शाह के रोड शो तैयारियों के लिए जहां-तहां पार्टी कार्यकर्ताओं ने पोस्टर बैनर लगा रखे थे| अमित शाह के रोड शो से पहले वहां पहुंचे प्रशासनिक अमले ने इन झंडे और पोस्टरों को हटा दिया जिसे लेकर विवाद शुरू हो गया| पुलिस वालों के पोस्टर बैनर हटाते ही बीजेपी कार्यकर्ताओं की उनसे बहस हुई| बहस धीरे-धीरे झड़प में तब्दील हो गई| ये घटना गोरखपुर में टाउन हॉल के पास हुई| पुलिस ने कहा कि चुनाव आयोग से यहां बैनर और पोस्टर लगाने की अनुमति नहीं है| जबकि कार्यकर्तों का कहना था कि पुलिस ने घरों पर लगे झंडे-पोस्टर को भी उखाड़ फेंका| कार्यकर्ताओं का कहना था कि अगर कोई व्यक्ति अपने घर पर झंडे-पोस्टर लगाना चाहता है तो उसे हटाया नहीं जा सकता|