अमित शाह ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, कहा-सच्चाई यह है कि कांग्रेस पार्टी में नेता घुटन महसूस कर रहे हैं

amit shah
भारत-चीन सीमा विवाद: अमित शाह ने राहुल पर बोला हमला, कहा-1962 से अबतक की स्थिति पर दो-दो हाथ हो जाए

नई दिल्ली। देश के केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आपातकाल के बहाने कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा है। शाह ने कहा कि आज कांग्रेस पार्टी के नेता घुटन महसूस कर रहे हैं और खुद को निराश महसूस कर रहे हैं। दरअसल, राहुल गांधी ने सीडब्ल्यूसी की बैठक में कहा था कि वह पीएम मोदी से नहीं डरते हैं, जिसका गृहमंत्री ने पलटवार किया है।

Amit Shah Targeted Rahul Gandhi Said The Truth Is That Leaders In Congress Party Are Feeling Suffocated :

अमित शाह ने राहुल पर निशाना साधते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘सीडब्ल्यूसी की हालिया बैठक के दौरान वरिष्ठ और युवा सदस्यों ने कुछ मुद्दों को उठाया। लेकिन उन्हें चुप करा दिया गया। पार्टी के एक प्रवक्ता को बिना सोचे समझे बर्खास्त कर दिया गया। दुखद सच्चाई यह है कि कांग्रेस में नेता घुटन महसूस कर रहे हैं।’

गृहमंत्री ने कहा है कि, ‘भारत के विपक्षी दलों में से एक के रूप में कांग्रेस को खुद से पूछने की आवश्यकता है। आपातकाल की मानसिकता अब तक क्यों बनी हुई है? ऐसे नेता जो एक वंश के नहीं हैं, उन्हें बोलने की इजाजत क्यों नहीं है? कांग्रेस में नेता क्यों निराश हो रहे हैं? अन्यथा लोगों के साथ उनका संबंध और कम होता जाएगा।’

बता दें कि, सीडब्ल्यूसी की बैठक में राहुल गांधी ने कहा था कि वह पीएम मोदी से नहीं डरते हैं और उन पर हमला करना जारी रखेंगे। उन्होंने पार्टी के अधिकांश नेताओं पर मोदी की सीधी आलोचना न करने का आरोप लगाया। यह जानकारी बैठक में मौजूद कई अंदरूनी सूत्रों ने दी है।

नई दिल्ली। देश के केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आपातकाल के बहाने कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा है। शाह ने कहा कि आज कांग्रेस पार्टी के नेता घुटन महसूस कर रहे हैं और खुद को निराश महसूस कर रहे हैं। दरअसल, राहुल गांधी ने सीडब्ल्यूसी की बैठक में कहा था कि वह पीएम मोदी से नहीं डरते हैं, जिसका गृहमंत्री ने पलटवार किया है। अमित शाह ने राहुल पर निशाना साधते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘सीडब्ल्यूसी की हालिया बैठक के दौरान वरिष्ठ और युवा सदस्यों ने कुछ मुद्दों को उठाया। लेकिन उन्हें चुप करा दिया गया। पार्टी के एक प्रवक्ता को बिना सोचे समझे बर्खास्त कर दिया गया। दुखद सच्चाई यह है कि कांग्रेस में नेता घुटन महसूस कर रहे हैं।’ गृहमंत्री ने कहा है कि, ‘भारत के विपक्षी दलों में से एक के रूप में कांग्रेस को खुद से पूछने की आवश्यकता है। आपातकाल की मानसिकता अब तक क्यों बनी हुई है? ऐसे नेता जो एक वंश के नहीं हैं, उन्हें बोलने की इजाजत क्यों नहीं है? कांग्रेस में नेता क्यों निराश हो रहे हैं? अन्यथा लोगों के साथ उनका संबंध और कम होता जाएगा।’ बता दें कि, सीडब्ल्यूसी की बैठक में राहुल गांधी ने कहा था कि वह पीएम मोदी से नहीं डरते हैं और उन पर हमला करना जारी रखेंगे। उन्होंने पार्टी के अधिकांश नेताओं पर मोदी की सीधी आलोचना न करने का आरोप लगाया। यह जानकारी बैठक में मौजूद कई अंदरूनी सूत्रों ने दी है।