1. हिन्दी समाचार
  2. बॉलीवुड
  3. Amrish Puri Birth Anniversary: जब प्रोड्यूसर ने कहा था चेहरा हीरो बनने लायक नहीं, तो गुस्से में आ बन बैठे विलेन

Amrish Puri Birth Anniversary: जब प्रोड्यूसर ने कहा था चेहरा हीरो बनने लायक नहीं, तो गुस्से में आ बन बैठे विलेन

अपनी बेहतरीन अदाकारी से सभी का दिल जीतने वाले बॉलीवुड खलनायक अमरीश पुरी का जन्म आज ही के दिन हुआ था। अमरीश पुरी ने कई बेहतरीन फिल्मों में विलेन की भूमिका निभाई और इसी भूमिका ने उन्हें लोगों के दिलों में गहरी छाप छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: अपनी बेहतरीन अदाकारी से सभी का दिल जीतने वाले बॉलीवुड खलनायक अमरीश पुरी का जन्म आज ही के दिन हुआ था। अमरीश पुरी ने कई बेहतरीन फिल्मों में विलेन की भूमिका निभाई और इसी भूमिका ने उन्हें लोगों के दिलों में गहरी छाप छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया।

पढ़ें :- 'ओ मेरे दिल के चैन' गाने पर गिर गिर के नाची मोनालिसा, अदायें देख हो जायेंगे पागल

उनकी इसी भूमिका के चलते उनसे लडकियां डरने लगीं। पहली बार एक एक्टर के लिए उनका स्क्रीन टेस्ट साल 1954 में हुआ था, और उस दौरान प्रोड्यूसर्स को वे पसंद नहीं आए थे। उस समय प्रोड्यूसर्स ने ये कहकर उन्हें फिल्मों में लेने से साफ़ मना कर दिया था कि उनका चेहरा हीरो बनने लायक नहीं है। इस बात को बात सुनकर अमरीश पुरी के दिल को बहुत ठेस पहुंची थी।

उसके बाद में उन्होंने फिल्मों में विलेन का किरदार चुना था जो उनकी मजबूरी थी। लेकिन तब शायद वह नहीं जानते थे कि नेगेटिव किरदार निभाकर वह बॉलीवुड के महान ‘खलनायकों’ में शामिल हो जाएंगे। वैसे अमरीश पुरी भले ही आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन वो आज भी फिल्म इंडस्ट्री के सबसे मशहूर विलेन्स में से एक हैं।

पढ़ें :- Tokyo Olympics 2020 : मीराबाई चानू ने जीता सिल्वर मेडल, बॉलीवुड में लगा बधाईयों का तांता

अमरीश पुरी को एक्टिंग का जुनून था और इसी के चलते उन्होंने प्रोड्यूसर्स के ठुकराने के बाद भी एक्टिंग को नहीं छोड़ा और थिएटर में काम करना शुरू कर दिया। ‘निशांत’, ‘मंथन’, ‘भूमिका’, ईमान-धरम, पापी, अलीबाबा मरजीना, जानी दुश्मन, सावन को आने दो, आक्रोश और कुर्बानी जैसी फिल्मों में काम कर अमरीश ने लोगो का दिल जीत लिया।

सुपरहिट विलेन बनने के बाद अमरीश मनचाही फीस लेने लगे और अगर वह फीस उन्हें नहीं मिलती थी तो वह फिल्म छोड़ देते थे। ‘राम लखन’, ‘सौदागर’, ‘करण-अर्जुन’, ‘कोयला’ जैसी सुपरहिट फिल्मों में काम कर वह और अधिक सुर्ख़ियों में आ गए। नेगेटिव के अलावा अमरीश ने पॉजिटिव किरदार भी किये और 12 जनवरी 2005 में उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...