AMU विवाद: 2 छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज, 7 से मांगा जवाब

AMU विवाद: 2 छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज, 7 से मांगा जवाब
AMU विवाद: 2 छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज, 7 से मांगा जवाब

अलीगढ़। कश्मीर में मुठभेड़ में मारे गए आतंकी मन्नान वानी को लेकर एएमयू कैंपस में देशद्रोही के नारे लगाए जाने पर पुलिस ने 2 छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है। और यूनिवर्सिटी प्रशासन ने मामले में 9 कश्मीरी छात्रों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है बताया जा रहा है, ये दोनों वही छात्र हैं, जिनके खिलाफ पुलिस ने नामजद केस दर्ज किया है।

Amu Administration Suspends 2 Students And Gives Show Cause Notice For 7 Student Over Manan Wani Death Controversy :

13 सेकंड के इस विडियो को कथित रूप से यूनिवर्सिटी कैंपस में ही शूट किया गया। इसमें जम्मू-कश्मीर में हंदवाड़ा में मुठभेड़ में मारे गए मन्नान वानी के लिए कुछ छात्रों का एक समूह आजादी के नारे लगा रहा था। मन्नान यूनिवर्सिटी से भूगर्भ विज्ञान में पीएचडी कर रहा था। इस साल की शुरुआत में ही वह आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था। आपको बता दें कि इन दोनों छात्रों के खिलाफ पुलिस ने धारा 121, 121A (देशद्रोह) का मुकदमा दर्ज किया है।

सीसीटीवी फुटेज से पहचाने जाएंगे और छात्र

एसएसपी अजय कुमार साहनी ने बताया कि छात्रों पर देशद्रोह का केस थाना सिविल लाइन की मेडिकल रोड चौकी प्रभारी इसरार अहमद ने दर्ज कराया है। नारेबाजी प्रकरण से संबंधित कुछ वीडियो प्राप्त हुए हैं। एएमयू इंतजामिया को पत्र लिखकर कैंपस में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज मुहैया कराने को कहा है, ताकि उनके साथ शामिल अन्य छात्रों को पहचाना जा सके। उनके द्वारा की गई कार्रवाई से अवगत कराने को भी कहा है।

एएमयू जनसंपर्क कार्यालय के सदस्य प्रभारी प्रो. शाफे किदवई ने बताया कि नमाज-ए-जनाजा में शामिल छात्रों की पहचान की जा रही है। अब तक चिह्नित 9 छात्रों को नोटिस जारी किया जा रहा है। जांच टीम सीसीटीवी और अन्य साक्ष्य देखकर आरोपी छात्रों की पहचान कर रही है।

इन छात्रों को नोटिस

वसीम अयूब मलिक पीएचडी, अब्दुल हसीब मीर पीएचडी, पीरजादा दानिश साबिर बीएससी, एयाज अहमद भट्ट एमएससी, मो. सुल्तान खान एमफिल, रकीब सुल्तान बीएससी, समीउल्ला रैदर बीएससी, शौकत अहमद लॉन और पीरजादा मेहबुबुल हक बीए।

ये हुए निलंबित

एएमयू प्रशासन ने वसीम अयूब मलिक, पीएचडी छात्र (शोपियां, जम्मू-कश्मीर) और अब्दुल हसीब मीर, पीएचडी छात्र (हंदवाड़ा, कुपवाड़ा, जम्मू-कश्मीर) को निलंबित कर दिया है।

अलीगढ़। कश्मीर में मुठभेड़ में मारे गए आतंकी मन्नान वानी को लेकर एएमयू कैंपस में देशद्रोही के नारे लगाए जाने पर पुलिस ने 2 छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया है। और यूनिवर्सिटी प्रशासन ने मामले में 9 कश्मीरी छात्रों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है बताया जा रहा है, ये दोनों वही छात्र हैं, जिनके खिलाफ पुलिस ने नामजद केस दर्ज किया है। 13 सेकंड के इस विडियो को कथित रूप से यूनिवर्सिटी कैंपस में ही शूट किया गया। इसमें जम्मू-कश्मीर में हंदवाड़ा में मुठभेड़ में मारे गए मन्नान वानी के लिए कुछ छात्रों का एक समूह आजादी के नारे लगा रहा था। मन्नान यूनिवर्सिटी से भूगर्भ विज्ञान में पीएचडी कर रहा था। इस साल की शुरुआत में ही वह आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था। आपको बता दें कि इन दोनों छात्रों के खिलाफ पुलिस ने धारा 121, 121A (देशद्रोह) का मुकदमा दर्ज किया है।

सीसीटीवी फुटेज से पहचाने जाएंगे और छात्र

एसएसपी अजय कुमार साहनी ने बताया कि छात्रों पर देशद्रोह का केस थाना सिविल लाइन की मेडिकल रोड चौकी प्रभारी इसरार अहमद ने दर्ज कराया है। नारेबाजी प्रकरण से संबंधित कुछ वीडियो प्राप्त हुए हैं। एएमयू इंतजामिया को पत्र लिखकर कैंपस में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज मुहैया कराने को कहा है, ताकि उनके साथ शामिल अन्य छात्रों को पहचाना जा सके। उनके द्वारा की गई कार्रवाई से अवगत कराने को भी कहा है। एएमयू जनसंपर्क कार्यालय के सदस्य प्रभारी प्रो. शाफे किदवई ने बताया कि नमाज-ए-जनाजा में शामिल छात्रों की पहचान की जा रही है। अब तक चिह्नित 9 छात्रों को नोटिस जारी किया जा रहा है। जांच टीम सीसीटीवी और अन्य साक्ष्य देखकर आरोपी छात्रों की पहचान कर रही है।

इन छात्रों को नोटिस

वसीम अयूब मलिक पीएचडी, अब्दुल हसीब मीर पीएचडी, पीरजादा दानिश साबिर बीएससी, एयाज अहमद भट्ट एमएससी, मो. सुल्तान खान एमफिल, रकीब सुल्तान बीएससी, समीउल्ला रैदर बीएससी, शौकत अहमद लॉन और पीरजादा मेहबुबुल हक बीए।

ये हुए निलंबित

एएमयू प्रशासन ने वसीम अयूब मलिक, पीएचडी छात्र (शोपियां, जम्मू-कश्मीर) और अब्दुल हसीब मीर, पीएचडी छात्र (हंदवाड़ा, कुपवाड़ा, जम्मू-कश्मीर) को निलंबित कर दिया है।