म्यामांर में और ताकतवर हुईं सू ची, करीबी सहयोगी विन मिंत बने राष्ट्रपति

सू ची , राष्ट्रपति
म्यामांर में और ताकतवर हुईं सू ची, करीबी सहयोगी विन मिंत बने राष्ट्रपति

नई दिल्ली। म्यामांर की संसद ने गुरुवार को विन मिंत को देश का नया राष्ट्रपति चुन लिया है। विन मिंत म्यामांर की प्रतिष्ठित नेता आंग सान सूची के बेहद करीबी मानें जाते हैं। जिसके बाद म्यामांर में अगले राष्ट्रपति के लिए राय बनने लगी। ऐसे में म्यामांर की संसद ने बुधवार को आंग सान सू ची के करीबी सहयोगी विन मिंत के नाम पर आम सहमति बनाई। बता दें कि 66 साल के मिंत की देश के शीर्ष स्तरीय नीति-निर्धारण की प्रक्रिया पर मजबूत पकड़ बरकरार है।

सेना द्वारा तैयार किए गए संविधान के तहत सू ची के राष्ट्रपति पद के लिए निर्वाचित होने पर रोक लगी है क्योंकि उन्होंने एक विदेशी से शादी की है और उनके दो बेटे हैं जो ब्रिटेन के नागरिक हैं। वह 2015 में अपनी पार्टी की ऐतिहासिक जीत के बाद से स्टेट काउंसलर हैं और घोषणा कर चुकी हैं कि वे राष्ट्रपति से‘‘ ऊपर रहते हुए’’ काम करेंगी।

{ यह भी पढ़ें:- म्यांमार के राष्ट्रपति ने दिया इस्तीफा, फेसबुक पोस्ट कर दी सूचना }

22 मार्च को दिया था निचले सदन से इस्तीफा
रिपोर्ट्स के मुताबिक विन मिंत ने 22 मार्च को निचली सदन के स्पीकर से इस्तीफा दिया था। मिंत के इस्तीफा देने के बाद से ही इस बात की अटकलें तेज थी कि वह राष्ट्रपति के लिए चुने जा सकते हैं।

म्यांमार शासन व्यवस्था
बता दें कि वर्तमान में म्यांमार में सेना के साथ सत्ता साझा कर सरकार शासन चला रही है। वर्तमान व्यवस्था के अनुसार सेना के पास भी कई राजनीतिक और आर्थिक अधिकार है। इतना नहीं देश में संसद की एक चौथाई सीट सेना के लिए आरक्षित है।

नई दिल्ली। म्यामांर की संसद ने गुरुवार को विन मिंत को देश का नया राष्ट्रपति चुन लिया है। विन मिंत म्यामांर की प्रतिष्ठित नेता आंग सान सूची के बेहद करीबी मानें जाते हैं। जिसके बाद म्यामांर में अगले राष्ट्रपति के लिए राय बनने लगी। ऐसे में म्यामांर की संसद ने बुधवार को आंग सान सू ची के करीबी सहयोगी विन मिंत के नाम पर आम सहमति बनाई। बता दें कि 66 साल के मिंत की देश के शीर्ष स्तरीय नीति-निर्धारण…
Loading...