एंड्रॉयड यूजर्स हो जाएं ALERT! ये खतरनाक वायरस कर सकता आपके फोन पर कब्जा

android
एंड्रॉयड यूजर्स हो जाएं ALERT! ये खतरनाक वायरस कर सकता आपके फोन पर कब्जा

नई दिल्ली। विश्व के कई देशों में 2.5 करोड़ एंड्रॉयड यूजर्स के फोन पर वायरस अटैक होने की बात सामने आई है। इजराइली साइबर सिक्योरिटी रिसर्च की निजी कंपनी के मुताबिक, इस खतरनाक वायरस ने सबसे ज्यादा भारत जैसे विकासशील देशों के एंड्रॉयड यूजर्स को अपना निशाना बनाया है। वायरस के जरिए वॉट्सऐप के साथ दूसरे ऐप्स हैक हो जाते हैं। उनकी जगह डुप्लीकेट वर्जन इन्स्टॉल हो जाता है। बाद में इसकी मदद से हैकर्स यूजर्स का निजी डेटा चोरी कर सकते है।

Android User Be Alert These Dangerous Viruses Can Capture Your Phone :

मिली जानकारी के मुताबिक ‘एजेंट स्मिथ’ नाम का यह मैलवेयर डिवाइस को आसानी से एक्सेस करता है। ये यूजर्स को फाइनेंशियल प्रॉफिट वाले विज्ञापन दिखाता है, जिसका इस्तेमाल यूजर्स के बैंकिंग डिटेल्स को चुराने के लिए किया जा सकता है। ये मैलवेयर Gooligan, Hummingbad और CopyCat से मिलता-जुलता है।

इतना ही नहीं भारत में करीब 1.5 करोड़ एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स पर इस मैलवेयर का अटैक हुआ है। वहीं, अमेरिका में 3 लाख और इंग्लैंड में 1,37,000 एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स इससे प्रभावित हुए हैं। ये थर्ड पार्टी ऐप 9apps.com के जरिए फोन में आया, जो चीन के अलीबाबा ग्रुप का ऐप है। मैलवेयर अटैक के बाद चेक पॉइंट कंपनी ने यूजर्स को अलर्ट रहने की बात कही है।

बता दें, मैलवेयर एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो वायरस की तरह काम करता है। यानी ये फोन में इन्स्टॉल होकर यूजर्स को डेटा को इन्फेक्टेड कर सकता है। ये इंटरनेट या किसी एप्लिकेशन के जरिए कम्प्यूटर, मोबाइल फोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज में जा सकता है। बाद में यूजर्स का निजी डेटा जैसे कॉन्टैक्ट, मैसेज, बैंक डिटेल, लॉगइन आई जैसी कई जानकारियां वायरस की मदद से चोरी की जा सकती हैं।

नई दिल्ली। विश्व के कई देशों में 2.5 करोड़ एंड्रॉयड यूजर्स के फोन पर वायरस अटैक होने की बात सामने आई है। इजराइली साइबर सिक्योरिटी रिसर्च की निजी कंपनी के मुताबिक, इस खतरनाक वायरस ने सबसे ज्यादा भारत जैसे विकासशील देशों के एंड्रॉयड यूजर्स को अपना निशाना बनाया है। वायरस के जरिए वॉट्सऐप के साथ दूसरे ऐप्स हैक हो जाते हैं। उनकी जगह डुप्लीकेट वर्जन इन्स्टॉल हो जाता है। बाद में इसकी मदद से हैकर्स यूजर्स का निजी डेटा चोरी कर सकते है। मिली जानकारी के मुताबिक 'एजेंट स्मिथ' नाम का यह मैलवेयर डिवाइस को आसानी से एक्सेस करता है। ये यूजर्स को फाइनेंशियल प्रॉफिट वाले विज्ञापन दिखाता है, जिसका इस्तेमाल यूजर्स के बैंकिंग डिटेल्स को चुराने के लिए किया जा सकता है। ये मैलवेयर Gooligan, Hummingbad और CopyCat से मिलता-जुलता है। इतना ही नहीं भारत में करीब 1.5 करोड़ एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स पर इस मैलवेयर का अटैक हुआ है। वहीं, अमेरिका में 3 लाख और इंग्लैंड में 1,37,000 एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स इससे प्रभावित हुए हैं। ये थर्ड पार्टी ऐप 9apps.com के जरिए फोन में आया, जो चीन के अलीबाबा ग्रुप का ऐप है। मैलवेयर अटैक के बाद चेक पॉइंट कंपनी ने यूजर्स को अलर्ट रहने की बात कही है। बता दें, मैलवेयर एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो वायरस की तरह काम करता है। यानी ये फोन में इन्स्टॉल होकर यूजर्स को डेटा को इन्फेक्टेड कर सकता है। ये इंटरनेट या किसी एप्लिकेशन के जरिए कम्प्यूटर, मोबाइल फोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज में जा सकता है। बाद में यूजर्स का निजी डेटा जैसे कॉन्टैक्ट, मैसेज, बैंक डिटेल, लॉगइन आई जैसी कई जानकारियां वायरस की मदद से चोरी की जा सकती हैं।