योगी का भोजनालय देगा 3 रुपए में नाश्ता और 5 रुपए में थाली

लखनऊ। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अन्नपूर्णा भोजनालय योजना के तहत यूपी के हर नगर निगम को कैंटीन खोलने के निर्देश दिए हैं। इस योजना के तहत मजदूरों को 3 रूपए में सुबह का नाश्ता मिलेगा तो 5 रुपए में दोपहर और रात के खाने की थाली।




3 रूपए में मिलने वाले नाश्ते में चाय पकौडा, दलिया और इडली मिलेगी तो 5 रूपए की थाली में मौसमी सब्जी, दाल, रोटी और चावल। इस योजना को उन लोगों के लिए लागू किया गया है जो मजदूरी कर जीवनयापन करते हैं। इन भोजनालयों को ऐसे इलाकों में खोला जाएगा जहां गरीब और मजदूरी करने वाले तबके के लोग रहते हैं।

अन्नपूर्णा योजना के माध्यम से योगी सरकार उन लोगों को राहत पहुंचाना चाहती है जो रोजी रोटी की जुगाड़ में शहरों का रुख करते हैं। जहां उनके पास न तो रहने की स्थायी व्यवस्था होती है और न ही बनाने खाने की।




एक अनुमान के मुताबिक यूपी के गांवों में बसने वाले करीब एक करोड़ खेतिहर मजदूर बेरोजगारी के दौरान आस पास के शहरों में जाकर दिहाड़ी मजदूरी और रिक्शा चलाने जैसे रोजगार से जुड़ते हैं। इनमें से बड़ी तादात ऐसे मजदूरों की होती है जो शाम को अपने गांवों को वापस लौट जाते हैं वहीं जो जिन मजदूरों का गांव ज्यादा दूर होता है या जिन्हें लंबे समय के लिए एक ही जगह पर मजदूरी का काम मिल जाता है वे शहर में ही अपना अस्थायी ठिकाना बनाकर रह जाते हैं। ऐसे मजदूरों के सामने शहर में सबसे बड़ी समस्या होती है भरपेट भोजन की। कई समाजसेवी संस्थाओं की रिपोर्ट में ऐसा सामने आया है कि दिहाड़ी मजदूरी और रिक्शा चलाने जैसे काम करने वाले अधिकांश लोग भर पेट भोजन न मिल पाने के कारण कई बार ​गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। अगर योगी सरकार की अन्नपूर्णा योजना सफल रहती है तो निश्चित ही ऐसे लोगों के लिए यह बड़ी राहत पहुंचाने वाला फैसला होगा।