पाकिस्तान को एक और झटका, द्विपक्षीय सहायता समाप्त करेगा ऑस्ट्रेलिया

imran khan
भारत के मौसम बुलेटिन में POK का हाल देख पाकिस्तान बौखलाया

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया ने आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान को बड़ा झटका दिया है। एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन की सरकार ने पाकिस्तान को दी जाने वाली सभी द्विपक्षीय सहायता को समाप्त करने का फैसला किया है, जिसमें गरीब महिलाओं और लड़कियों की मदद के लिए जनकल्याणकारी योजनाएं शामिल थी। ऑस्ट्रेलिया के विदेश विभाग और वाणिज्य विभाग की ओर से इसकी पुष्टि भी कर दी गई है।      

Another Blow To Pakistan Australia To End Bilateral Aid :

पाकिस्तान को दी जानेवाली सहायता राशि रोकी गई

ऑस्ट्रेलिया की ओर से 1.9 करोड़ ऑस्ट्रेलियाई डॉलर की मदद रोकी जा रही है। ऑस्ट्रेलिया के विदेश और व्यापार मंत्रालय ने इस आशय की रिपोर्ट जारी करते हुए कहा है कि पाकिस्तान को दी जानेवाली सहायता राशि अब बंद की जा रही है। सहायता राशि का प्रयोग प्रशांत महासागर की नई प्रतिबद्धताओं के लिए किया जाएगा।  

एफएटीएफ की काली सूची से बचे पाक

इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि फरवरी 2018 में पाकिस्तान को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की ग्रे लिस्ट में डाला गया। रिपोर्ट में सुझाव दिया गया कि पाकिस्तान को अक्तूबर 2019 में संभावित रूप से काली सूची से बचने के लिए अपनी कार्ययोजना पर प्रगति दिखाने की जरूरत है।

पाक के सुरक्षा हालात विस्फोटक, कश्मीर का भी जिक्र

पाकिस्तान में सुरक्षा व्यवस्था और देश के अंदर जारी संघर्ष को लेकर रिपोर्ट में चिंता व्यक्त की गई है। रिपोर्ट के अनुसार, ‘पाकिस्तान में सुरक्षा हालात विस्फोटक हालत में पहुंच चुके हैं। 2019 के फरवरी में पाकिस्तान और भारत के बीच कश्मीर में हुए सैन्य तनाव के बाद से स्थिति और भी गंभीर हो गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पंजाब और सिंध इलाके में आतंकी वारदात में कमी आई है, लेकिन खैबर पख्तनूख्वा और बलूचिस्तान में आतंकी घटनाओं में वृद्धि दर्ज की गई है। इन दोनों क्षेत्रों में ऑस्ट्रेलिया द्वारा दी गई सहायता राशि का प्रयोग विभिन्न कल्याणकारी कार्यों में खर्च होता है।  

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया ने आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान को बड़ा झटका दिया है। एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन की सरकार ने पाकिस्तान को दी जाने वाली सभी द्विपक्षीय सहायता को समाप्त करने का फैसला किया है, जिसमें गरीब महिलाओं और लड़कियों की मदद के लिए जनकल्याणकारी योजनाएं शामिल थी। ऑस्ट्रेलिया के विदेश विभाग और वाणिज्य विभाग की ओर से इसकी पुष्टि भी कर दी गई है।       पाकिस्तान को दी जानेवाली सहायता राशि रोकी गई ऑस्ट्रेलिया की ओर से 1.9 करोड़ ऑस्ट्रेलियाई डॉलर की मदद रोकी जा रही है। ऑस्ट्रेलिया के विदेश और व्यापार मंत्रालय ने इस आशय की रिपोर्ट जारी करते हुए कहा है कि पाकिस्तान को दी जानेवाली सहायता राशि अब बंद की जा रही है। सहायता राशि का प्रयोग प्रशांत महासागर की नई प्रतिबद्धताओं के लिए किया जाएगा।   एफएटीएफ की काली सूची से बचे पाक इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि फरवरी 2018 में पाकिस्तान को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की ग्रे लिस्ट में डाला गया। रिपोर्ट में सुझाव दिया गया कि पाकिस्तान को अक्तूबर 2019 में संभावित रूप से काली सूची से बचने के लिए अपनी कार्ययोजना पर प्रगति दिखाने की जरूरत है। पाक के सुरक्षा हालात विस्फोटक, कश्मीर का भी जिक्र पाकिस्तान में सुरक्षा व्यवस्था और देश के अंदर जारी संघर्ष को लेकर रिपोर्ट में चिंता व्यक्त की गई है। रिपोर्ट के अनुसार, 'पाकिस्तान में सुरक्षा हालात विस्फोटक हालत में पहुंच चुके हैं। 2019 के फरवरी में पाकिस्तान और भारत के बीच कश्मीर में हुए सैन्य तनाव के बाद से स्थिति और भी गंभीर हो गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि पंजाब और सिंध इलाके में आतंकी वारदात में कमी आई है, लेकिन खैबर पख्तनूख्वा और बलूचिस्तान में आतंकी घटनाओं में वृद्धि दर्ज की गई है। इन दोनों क्षेत्रों में ऑस्ट्रेलिया द्वारा दी गई सहायता राशि का प्रयोग विभिन्न कल्याणकारी कार्यों में खर्च होता है।