जम्मू-कश्मीर में श्रद्धालुओं से भरी कार चिनाब नदी में गिरी, 14 की मौत

जम्मू-कश्मीर में श्रद्धालुओं से भरी कार चिनाब नदी में गिरी, 14 की मौत
जम्मू-कश्मीर में श्रद्धालुओं से भरी कार चिनाब नदी में गिरी, 14 की मौत

Another Major Accident In Kishtwar Of Jammu And Kashmir Vehicle Down In River Chenab

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में दर्दनाक हादसा हुआ है। माता के दर्शन करने के लिए जा रहे श्रद्धालुओं से भरी कार चिनाब नदी में गिर गई। बताया जा रहा है कि इसमें कुल 14 लोग सवार थे। हादसे के बाद पुलिस टीम ने 13 लोगों के शव निकाले। 5 साल की बच्ची को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। मारे गए सभी लोग पद्दार घाटी में मचैल माता के दर्शन कर लौट रहे थे।

सोमवार को किश्तवाड़ जा रहे दो वाहनों के मलबे की चपेट में आने से हुए दर्दनाक हादसे को लोग अभी भूले नहीं थे, कि 24 घंटों के भीतर किश्तवाड़ से करीब 20 किलोमीटर दूर किश्तवाड़-पाडर-गुलाबगढ़ मार्ग पर स्थित नस्सू गांव के पास मचैल यात्रियों को लेकर किश्तवाड़ लौट रही इक्को वैन के चालक ने वाहन पर से अपना नियंत्रण खो दिया।

जिसके चलते वैन सड़क से करीब 600 फीट नीचे गहरी खाई में गिरी। काफी गहरी खाई में गिरने के कारण वैन के परखच्चे उड़ गए। डीसी किश्तवाड़ अंग्रेज सिंह ने राणा ने बताया कि दुर्घटना का शिकार हुई वैन में से 13 यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि इस हादसे में एकमात्र जीवित बचने वाली पांच साल की बच्ची की हालत भी बेहद गंभीर है।

बताया जा रहा है कि सभी श्रद्धालु माछिल मात्रा की यात्रा पर जा रहे थे। माछिल माता यात्रा करीब 43 दिवसीय यात्रा होती है। जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी एसपी वैद ने ट्वीट कर हादसे की पुष्टि की।

उन्होंने बताया, ‘किश्तवाड़ में एक और बड़ा हादसा, श्रद्धालुओं को माछिल माता की यात्रा पर ले जा रहा वाहन चेनाब नदी में फिसल कर गिर गया। घटना किश्तवाड़ से करीब 28 किमी दूर हुई। इस हादसे में एक 5 साल का बच्चा ही अकेला जीवित मिला है।’

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में दर्दनाक हादसा हुआ है। माता के दर्शन करने के लिए जा रहे श्रद्धालुओं से भरी कार चिनाब नदी में गिर गई। बताया जा रहा है कि इसमें कुल 14 लोग सवार थे। हादसे के बाद पुलिस टीम ने 13 लोगों के शव निकाले। 5 साल की बच्ची को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। मारे गए सभी लोग पद्दार घाटी में मचैल माता के दर्शन कर लौट रहे…