प्रधानमंत्री के रात्रिभोज में नहीं शामिल होगा कोई भी राजद नेता : मीसा भारती

meesha bharti
प्रधानमंत्री के रात्रिभोज में नहीं शामिल होगा कोई भी राजद नेता : मीशा भारती

नई दिल्ली। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की बेटी और राष्ट्रीय जनता दल की नेता मीसा भारती ने कहा कि उनकी पार्टी का कोई भी नेता प्रधानमंत्री द्वारा बुलाए गए रात्रिभोज कार्यक्रम में शिरकत नहीं करेगा। उन्होने कहा कि एक तरफ मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के चलते लगातार बच्चों की मौत हो रही हैं, वहीं दूसरी तरफ प्रधानमंत्री रात्रिभोज का आयोजन कर रहे हैं।

Any Rjd Leader Will Not Include In Prime Ministers Dinner Says Meisha Bharti :

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को लोकसभा और राज्यसभा सांसदों को बैठक और रात्रिभोज के लिए आमंत्रित किया है। ये भव्य आयोजन दिल्ली स्थित अशोका होटल में आयोजित हो रहा है। संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी ने सभी सांसदों को इसके लिए निमंत्रण भेजा है। बता दें कि दूसरी बार एनडीए की सरकार बनने के लिए ये पहली बैठक हो रही है, जिसमें सभी सांसद मौजूद रहेंगे।

वहीं बिहार इस समय चमकी बुखार के कहर से जूझ रहा है। एईएस या दिमागी बुखार की चपेट में आकर अब तक करीब डेढ़ सौ बच्चों की मौत हो चुकी है। वहीं लू के कारण मरने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। पिछले 24 घंटे में 12 लोगों की लू लगने से मौत हो गई है।

नई दिल्ली। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की बेटी और राष्ट्रीय जनता दल की नेता मीसा भारती ने कहा कि उनकी पार्टी का कोई भी नेता प्रधानमंत्री द्वारा बुलाए गए रात्रिभोज कार्यक्रम में शिरकत नहीं करेगा। उन्होने कहा कि एक तरफ मुजफ्फरपुर में एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के चलते लगातार बच्चों की मौत हो रही हैं, वहीं दूसरी तरफ प्रधानमंत्री रात्रिभोज का आयोजन कर रहे हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को लोकसभा और राज्यसभा सांसदों को बैठक और रात्रिभोज के लिए आमंत्रित किया है। ये भव्य आयोजन दिल्ली स्थित अशोका होटल में आयोजित हो रहा है। संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी ने सभी सांसदों को इसके लिए निमंत्रण भेजा है। बता दें कि दूसरी बार एनडीए की सरकार बनने के लिए ये पहली बैठक हो रही है, जिसमें सभी सांसद मौजूद रहेंगे। वहीं बिहार इस समय चमकी बुखार के कहर से जूझ रहा है। एईएस या दिमागी बुखार की चपेट में आकर अब तक करीब डेढ़ सौ बच्चों की मौत हो चुकी है। वहीं लू के कारण मरने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। पिछले 24 घंटे में 12 लोगों की लू लगने से मौत हो गई है।