1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Apara Ekadashi 2022:अपरा एकादशी व्रत रखने से मानोकामना की पूर्ती होती है,   इन वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए

Apara Ekadashi 2022:अपरा एकादशी व्रत रखने से मानोकामना की पूर्ती होती है,   इन वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए

हिंदू व्रत त्योहारों में एकादशी व्रत का बहुत महत्व है। ज्येष्ठ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को अपरा एकादशी के नाम से जाना जाता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Apara Ekadashi 2022 : हिंदू व्रत त्योहारों में एकादशी व्रत का बहुत महत्व है। ज्येष्ठ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को अपरा एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस बार अपरा एकादशी 26 मई 2022 की पड़ रही हैं। एकादशी व्रत भगवान विष्णु को समर्पित है। एकादशी व्रत रख कर भगवान विष्णु की उपासना की जाती है और उन्हें प्रसन्न् किया जाता है। भक्त गण एकादशी के नियमों का पालन करते हुए भगवान विष्णु से मनोकामना पूर्ती का वर मांगते है। अपरा एकादशी को अचला एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। एकादशी के व्रत में भगवान विष्णु के साथ मां लक्ष्मी की पूजा करने से उनकी कृपा प्राप्त होती है।

पढ़ें :- Chaturmas 2022 : 10 जुलाई से शुरू हो रहा है चातुर्मास, भगवान विष्णु की इन 5 राशियों पर रहेगी विशेष कृपा

उदयातिथि के अनुसार अपरा एकादशी का व्रत 26 मई के दिन रखा जाएगा। व्रत के पारण का समय 27 मई शुक्रवार प्रातः 05 बजकर 30 मिनट से लेकर 08 बजकर 05 मिनट तक है।

एकादशी व्रत में शकरकंद, कुट्टू, आलू, साबूदाना, नारियल, काली मिर्च, सेंधा नमक, दूध, बादाम, अदरक, चीनी आदि पदार्थ खाने में शामिल कर सकते हैं। एकादशी का उपवास रखने वालों को दशमी के दिन मांस, लहसुन, प्याज, मसूर की दाल आदि निषेध वस्तुओं का सेवन नहीं करना चाहिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...