1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. मुस्लिम धर्मगुरु की योगी सरकार से अपील, शुरू की जाए मांस की बिक्री

मुस्लिम धर्मगुरु की योगी सरकार से अपील, शुरू की जाए मांस की बिक्री

लखनऊ. कोरोना महामारी को लेकर पूरे देश में अभी भी 17 मई तक लॉकडाउन है। इसी बीच शनिवार को इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया के अध्यक्ष और मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना खालिद राशिद फरंगी महली ने सीएम योगी से अपील करते हुए मांस के व्यापार पर लगी रोक हटाने की मांग की है. उनका कहना है कि राज्य में मांस को खरीदने और बेचने को लेकर लगाई गई पाबंदी को हटाया जाए. महली का कहना है कि मांस के कारोबार से आर्थिक फायदा भी होगा. इसके पीछे उन्होंने तर्क दिया है कि मांस के कारोबार से रोज कमाने और खाने वाली बड़ी आबादी जुड़ी हुई है. उनका ये भी कहना है कि मांस के व्यापार पर लगी रोक की वजह से तमाम व्यापारी बेहद परेशान हैं.

मौलाना फरंगी महली ने कहा कि जहाॅ एक ओर हमारा देश भारत गोश्त निर्यात करने वाला सबसे बड़ा देश है. वहीं एक बड़ी आबादी इस कारोबार से जुड़ी है कि जो रोज कमाती खाती है. यह लोग गोश्त के व्यापार पर पाबंदी लग जाने से पायी-पायी की मोहताज और खाने पीने के लिए बहुत परेशान हैं. इसलिए प्रदेश के मुख्यमंत्री से मांग है कि गोश्त का कारोबार शुरू करने की इजाजत दें.

इसी के साथ मौलाना फरंगी महली ने गोश्त व्यापारियों से अपील की कि वह अपने कारोबार में साफ- सफाई के उच्च पैमाने और सरकार के तय किये कानून का अच्छी तरह ख्याल रखें और इस माह-ए-मुबारक का एहतिराम भी पूरी तरह से करें.

बता दें कि योगी सरकार ने राज्य में मांस की बिक्री पर फिलहाल रोक लगा रखी है. ऐसा नहीं है कि राज्य में पहली बार ऐसी मांग उठी है. अभी कुछ दिन पहले ही मशहूर कवि मुनव्वर राणा ने भी मांस का कारोबार फिर से शुरू कराने की अपील की थी. मुनव्वर राणा ने इसे लेकर एक ट्वीट किया था. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था, “योगी जी शराब पीने वालों को शराब पिलवाइए लेकिन हम लोगों को भी गोश्त खाने दीजिए.”

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...