आरूषि- हेमराज मर्डर केस : सीबीआई की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट दोबारा करेगी मामले की सुनवाई

aarush- hemraj murder case
आरूषि- हेमराज मर्डर केस : सीबीआई की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट दोबारा करेगी मामले की सुनवाई

Appeals Against Talwars Acquittal In Aarushi Hemraj Murder Case Sc Agree To Hear

नई दिल्ली। नोएडा में वर्ष 2008 में हुए आरूषि और हेमराज मर्डर केस से बरी होने के बाद तलवार दम्पति की एक बार फिर मुश्लिके बढ़ने वाली है। उनके इस केस से बरी होने के बरी होने के बाद सीबीआई और हेमराज की पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की। जिस पर कोर्ट ने सुनवाई के लिए सहमति जताई है।

बताया जा रहा है कि जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली जस्टिस नवीन सिन्हा और जस्टिस के.एम. जोसेफ की तीन जजों की बैंच ने कहा कि सीबीआई की अपील पर हेमराज की पत्नी की लंबित याचिका के साथ सुनवाई की जाएगी। बता दे चार साल से जेल में बंद इस मामले के आरोपी डा. राजेश और नुपूर तलवार को बीते वर्ष 12 अक्टूबर को इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा तलवार दंपति को बरी कर दिया था। दोनों लोगों को बरी करने के बाद हेमराज की पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर कर न्याय की गुहार लगाई थी।

सीबीआई की ओर से पेश हुए अडिशनल सॉलिसिटर जनरल मनिंदर सिंह ने हेमराज की पत्नी द्वारा दायर याचिका को संदर्भित किया। जिसके बाद कोर्ट ने कहा कि हेमराज की पत्नी की तरफ से दाखिल याचिका के साथ ही सीबीआई की अपील को टैग किया जाएगा। बता दे कि मई 2008 में 14 वर्षीय आरुषि तलवार का शव नोएडा स्थित घर में शव पड़ा मिला था। उसका गला भी रेता गया था और नौकर हेमराज गायब था। जिसके चलते हत्या का शक 45 वर्षीय नौकर पर ही गया। मामले में नया मोड़ तब आ गया,ज​ब दो दिन बाद हेमराज का शव भी मकान की छत पर पाया गया।

मामले की जांच में जुटी सीबीआई ने तलवरा दम्पति को दोषी मानते हुए पड़ताल शुरु की, तब गाजियाबाद की सीबीआई कोर्ट ने 26 नवंबर 2013 को तलवार दंपति को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। लेकिन इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया। कोर्ट के मुताबिक मौजूदा सबूतों के आधार पर तलवार दंपति को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है।

नई दिल्ली। नोएडा में वर्ष 2008 में हुए आरूषि और हेमराज मर्डर केस से बरी होने के बाद तलवार दम्पति की एक बार फिर मुश्लिके बढ़ने वाली है। उनके इस केस से बरी होने के बरी होने के बाद सीबीआई और हेमराज की पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की। जिस पर कोर्ट ने सुनवाई के लिए सहमति जताई है। बताया जा रहा है कि जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली जस्टिस नवीन सिन्हा और जस्टिस के.एम. जोसेफ की…