रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से मिले आर्मी चीफ, लद्दाख के हालात से कराया अवगत

rajnath singh
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से मिले आर्मी चीफ, लद्दाख के हालात से कराया अवगत

नई दिल्ली। भारत-चीन तनाव के बीच दो दिवसीय दौरे से लौटे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने शुक्रवार को मुलाकात की। मुलाकात के दौरान सेना प्रमुख ने लद्दाख सेक्टर के हालात से अवगत कराया। आर्मी चीफ पूर्वी लद्दाख में दो दिनों के दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास इलाकों का भी निरीक्षण किया था।

Army Chief Met Defense Minister Rajnath Singh Made Aware Of The Situation In Ladakh :

बता दें कि, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह विक्ट्री परेड में हिस्सा लेकर रूस से लौटे हैं। इसके बाद उन्हें वहां की जानकारी से अवगत कराने के लिए पीएम मोदी से मुलाकात करनी है। गुरुवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह रूस की राजधानी मॉस्को में आयोजित विक्ट्री परेड में हिस्सा लेने के बाद वापस लौटे हैं और आर्मी चीफ नरवाने भी लद्दाख के दो दिवसीय दौरे के बाद वापस गुरुवार को ही लौटे।

गौरतलब है कि रूस रवाना होने से पहले भारत-चीन तनाव को लेकर रक्षामंत्री लगातार सैन्य नेतृत्व के संपर्क में थे। बता दें कि भारत-चीन सीमा पर मौजूद गलवन घाटी में दोनों देशों के बीच हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए।

आर्मी चीफ ने अपने दौरे में लद्दाख में मौजूद सेना की तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही लेह के उस अस्पताल में भी गए जहां चीन के साथ झड़प में घायल जवानों का इलाज किया जा रहा था। वहां उन्होंने जख्मी भारतीय जवानों से बातचीत की और उनके साहस की सराहना की।

 

नई दिल्ली। भारत-चीन तनाव के बीच दो दिवसीय दौरे से लौटे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने शुक्रवार को मुलाकात की। मुलाकात के दौरान सेना प्रमुख ने लद्दाख सेक्टर के हालात से अवगत कराया। आर्मी चीफ पूर्वी लद्दाख में दो दिनों के दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास इलाकों का भी निरीक्षण किया था। बता दें कि, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह विक्ट्री परेड में हिस्सा लेकर रूस से लौटे हैं। इसके बाद उन्हें वहां की जानकारी से अवगत कराने के लिए पीएम मोदी से मुलाकात करनी है। गुरुवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह रूस की राजधानी मॉस्को में आयोजित विक्ट्री परेड में हिस्सा लेने के बाद वापस लौटे हैं और आर्मी चीफ नरवाने भी लद्दाख के दो दिवसीय दौरे के बाद वापस गुरुवार को ही लौटे। गौरतलब है कि रूस रवाना होने से पहले भारत-चीन तनाव को लेकर रक्षामंत्री लगातार सैन्य नेतृत्व के संपर्क में थे। बता दें कि भारत-चीन सीमा पर मौजूद गलवन घाटी में दोनों देशों के बीच हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए। आर्मी चीफ ने अपने दौरे में लद्दाख में मौजूद सेना की तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही लेह के उस अस्पताल में भी गए जहां चीन के साथ झड़प में घायल जवानों का इलाज किया जा रहा था। वहां उन्होंने जख्मी भारतीय जवानों से बातचीत की और उनके साहस की सराहना की।