निगमबोध घाट पहुंची अरुण जेटली की शव यात्रा, थोड़ी देर में होगा अंतिम संस्कार

arun-kaitley
निगमबोध घाट पहुंची अरुण जेटली की शव यात्रा, थोड़ी देर में होगा अंतिम संस्कार

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का पार्थिव शरीर निगमबोध घाट पहुंच गया है, जहां करीब 2.30 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। जेटली का शव भाजपा मुख्यालय से निगमबोध घाट के लिए अंतिम यात्रा पर निकल गया है। यहां उनका राजकीय सम्मान के अंतिम संस्कार किया जाएगा। रविवार सुबह कैलाश कॉलोनी स्थित उनके आवास से जनता के दर्शन के लिए भाजपा मुख्यालय में लाया गया। भाजपा के दिग्गज नेता का पार्थिव शरीर सुबह लगभग 10.58 बजे फूलों से सजे एक सैन्य वाहन में पार्टी मुख्यालय लाया गया।

Arun Jaitley Funeral At Nigam Bodh Ghat :

जेटली के पार्थिव शरीर को ले जाने वाले काफिले के साथ कई भाजपा नेता और परिवार के सदस्य भी मुख्यालय पहुंचे। गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने लाल रंग के ताबूत में रखे गए जेटली के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

लंबे समय से बीमार चल रहे जेटली (66) का शनिवार को एम्स में निधन हो गया था। जेटली का कई सप्ताह से एम्स में इलाज चल रहा था। एम्स ने इसकी घोषणा करते हुए एक संक्षिप्त बयान में कहा था कि हम बड़े दुख के साथ अरुण जेटली के निधन की जानकारी दे रहे हैं। जेटली को सांस लेने में दिक्कत और बेचैनी की शिकायत के बाद नौ अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था।

शनिवार को बहरीन में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी अरुण जेटली को याद करते हुए भावुक हो गए। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘मैं गहरा दर्द दबाए हुए बैठा हूं। आज मेरा दोस्त अरुण चला गया।’ पीएम मोदी ने कहा कि जब सभी कृष्ण जन्मोत्सव मना रहे हैं, उस समय मेरे भीतर एक शोक है। मैं गहरा दर्द दबाए हुए बैठा हूं।

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का पार्थिव शरीर निगमबोध घाट पहुंच गया है, जहां करीब 2.30 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। जेटली का शव भाजपा मुख्यालय से निगमबोध घाट के लिए अंतिम यात्रा पर निकल गया है। यहां उनका राजकीय सम्मान के अंतिम संस्कार किया जाएगा। रविवार सुबह कैलाश कॉलोनी स्थित उनके आवास से जनता के दर्शन के लिए भाजपा मुख्यालय में लाया गया। भाजपा के दिग्गज नेता का पार्थिव शरीर सुबह लगभग 10.58 बजे फूलों से सजे एक सैन्य वाहन में पार्टी मुख्यालय लाया गया। जेटली के पार्थिव शरीर को ले जाने वाले काफिले के साथ कई भाजपा नेता और परिवार के सदस्य भी मुख्यालय पहुंचे। गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने लाल रंग के ताबूत में रखे गए जेटली के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। लंबे समय से बीमार चल रहे जेटली (66) का शनिवार को एम्स में निधन हो गया था। जेटली का कई सप्ताह से एम्स में इलाज चल रहा था। एम्स ने इसकी घोषणा करते हुए एक संक्षिप्त बयान में कहा था कि हम बड़े दुख के साथ अरुण जेटली के निधन की जानकारी दे रहे हैं। जेटली को सांस लेने में दिक्कत और बेचैनी की शिकायत के बाद नौ अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था। शनिवार को बहरीन में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी अरुण जेटली को याद करते हुए भावुक हो गए। इस दौरान उन्होंने कहा, 'मैं गहरा दर्द दबाए हुए बैठा हूं। आज मेरा दोस्त अरुण चला गया।' पीएम मोदी ने कहा कि जब सभी कृष्ण जन्मोत्सव मना रहे हैं, उस समय मेरे भीतर एक शोक है। मैं गहरा दर्द दबाए हुए बैठा हूं।