1. हिन्दी समाचार
  2. GST की दूसरी सालगिरह पर बोले जेटली, एक राष्ट्र एक टैक्स सिस्टम नहीं साबित होगा कारगर

GST की दूसरी सालगिरह पर बोले जेटली, एक राष्ट्र एक टैक्स सिस्टम नहीं साबित होगा कारगर

Arun Jaitley Satatement On Gst

By आशीष यादव 
Updated Date

नई दिल्ली। जीएसटी के लागू होने के बाद आज तीसरे वर्ष में प्रवेश करने के मौके पर पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि ये बेहद सफल टैक्स सिस्टम है। उन्होंने कहा है कि जीएसटी के विरुद्ध जितने भी दावें किए जा रहे थे, वो सब आधारहीन थे। बल्कि जीएसटी से देश में अभूतपूर्व सुधार हुए हैं। उन्होने कहा कि जीएसटी लागू होने के बाद देश में टैक्सपेयर्स की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है।

पढ़ें :- गठिया के दर्द से रहतीं है परेशान, अपनाएं ये गजब का काढ़ा... कुछ ही दिनो मे दिखेगा असर

पूर्व वित्तमंत्री ने कहा कि पहले देश में 65 लाख लोग टैक्स देते थे, लेकिन जीएसटी लागू होने के बाद इन लोगों की संख्या एक करोड़ बीस लाख हो गई है। इससे केंद्र के साथ-साथ राज्यों की आय भी बढ़ी है और सरकारों के पास जनोपयोगी सेवाओं को बढ़ाने के लिए ज्यादा वित्तीय ताकत आई है। उन्होने कहा कि देश में ज्यादातर आबादी गरीबी रेखा से नीचे है, लिहाजा यहां एक देश एक टैक्स का सिस्टम सही नहीं साबित हो सकता।

जेटली के मुताबिक जीएसटी के लागू होने से पहले टैक्स को लेकर 17 कानून मौजूद थे। अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग प्रावधान होने के कारण व्यापारियों के साथ-साथ सरकारों को भी कष्ट देने वाला था। वैट 14.5 फीसदी, एक्साइज ड्यूटी 12.5 फीसदी सहित अनेक टैक्स लगते थे। इस व्यवस्था में उपभोक्ता को अंततः लगभग 31 फीसदी तक टैक्स देना पड़ता था। जबकि जीएसटी के लागू होने के बाद यह अधिकतम 28 फीसदी रह गया है। वह भी केवल कुछ उच्च विलासिता की वस्तुओं में।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...