राफेल पर जेटली का पलटवार, राहुल को बताया- ‘मूर्ख राजकुमार’

राफेल पर जेटली का पलटवार, राहुल को बताया- 'मूर्ख राजकुमार'
राफेल पर जेटली का पलटवार, राहुल को बताया- 'मूर्ख राजकुमार'

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे और 15 औद्योगिक घरानों का कर्ज माफ करने के बारे में फैलाये जा रहे झूठ को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कड़ी आलोचना की है। जेटली ने कांग्रेस अध्यक्ष को ‘मूर्ख राजकुमार (क्लाउन प्रिंस)’ से संबोधित करते हुए कहा है कि वह राफेल और एनपीए पर लगातार झूठ बोल रहे हैं। जेटली ने कहा है कि राहुल उस रणनीति पर काम कर रहे हैं जहां एक झूठ बनाया जाता है और उसे बार-बार बोला जाता है।

Arun Jaitley Slams On Rahul Gandhi Told Him Clown Prince :

जेटली ने अपने ब्लॉग में राहुल द्वारा राफेल और एनपीए को लेकर लगाए जा रहे आरोपों का जवाब दिया है। जेटली ने कहा कि राहुल गांधी साफ झूठ बोल रहे हैं राफेल डील को लेकर भी और मोदी द्वारा 15 उद्योगपतियों के ढाई लाख करोड़ के लोन माफी को लकर भी। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का हर शब्द झूठ है। उन्होंने कहा कि राहुल अपने आरोपों में जिन व्यापारियों के लोन माफ किए जाने की बात कर रहे हैं वो सब कुछ साल 2014 से पहले यूपीए के काल में हुआ। जेटली ने दावा किया कि यूपीए की सरकार के जाने वक्त एनपीए 2.5 लाख करोड़ रुपये था।

वित्त मंत्री ने कहा कि सत्य यह है कि एनपीए कार्पेट के अंदर छिपा हुआ था। जेटली ने लिखा, ‘2015 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया न एक असेट क्वॉलिटी रिव्यू किया था।’ जेटली ने कहा कि पारदर्शी तरीके से जब बैंकों ने स्वीकार किया तो पता चला कि एनपीए 8.96 लाख करोड़ रुपये था। जेटली ने अपने पोस्ट में आरोप लगाया है कि एनपीए की रिकवरी या कमी के लिए यूपीए सरकार में कोई प्रभावशाली कदम नहीं उठाया गया।

जेटली ने राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि आपने राफेल और एनपीए, दोनों पर झूठ बोला है। वित्त मंत्री ने कहा कि पब्लिक डिस्कोर्स एक गंभीर ऐक्टिविटी है और यह लाफ्टर चैलेंज नहीं है। जेटली ने राहुल द्वारा पीएम मोदी को गले लगाने पर भी तंज कसते हुए लिखा कि पब्लिक डिस्कोर्स को आप गले लगने, आंख मारने या इस तरह के लगातार झूठ बोलने तक सीमित नहीं कर सकते हैं।

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे और 15 औद्योगिक घरानों का कर्ज माफ करने के बारे में फैलाये जा रहे झूठ को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कड़ी आलोचना की है। जेटली ने कांग्रेस अध्यक्ष को 'मूर्ख राजकुमार (क्लाउन प्रिंस)' से संबोधित करते हुए कहा है कि वह राफेल और एनपीए पर लगातार झूठ बोल रहे हैं। जेटली ने कहा है कि राहुल उस रणनीति पर काम कर रहे हैं जहां एक झूठ बनाया जाता है और उसे बार-बार बोला जाता है।जेटली ने अपने ब्लॉग में राहुल द्वारा राफेल और एनपीए को लेकर लगाए जा रहे आरोपों का जवाब दिया है। जेटली ने कहा कि राहुल गांधी साफ झूठ बोल रहे हैं राफेल डील को लेकर भी और मोदी द्वारा 15 उद्योगपतियों के ढाई लाख करोड़ के लोन माफी को लकर भी। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का हर शब्द झूठ है। उन्होंने कहा कि राहुल अपने आरोपों में जिन व्यापारियों के लोन माफ किए जाने की बात कर रहे हैं वो सब कुछ साल 2014 से पहले यूपीए के काल में हुआ। जेटली ने दावा किया कि यूपीए की सरकार के जाने वक्त एनपीए 2.5 लाख करोड़ रुपये था। वित्त मंत्री ने कहा कि सत्य यह है कि एनपीए कार्पेट के अंदर छिपा हुआ था। जेटली ने लिखा, '2015 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया न एक असेट क्वॉलिटी रिव्यू किया था।' जेटली ने कहा कि पारदर्शी तरीके से जब बैंकों ने स्वीकार किया तो पता चला कि एनपीए 8.96 लाख करोड़ रुपये था। जेटली ने अपने पोस्ट में आरोप लगाया है कि एनपीए की रिकवरी या कमी के लिए यूपीए सरकार में कोई प्रभावशाली कदम नहीं उठाया गया।जेटली ने राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि आपने राफेल और एनपीए, दोनों पर झूठ बोला है। वित्त मंत्री ने कहा कि पब्लिक डिस्कोर्स एक गंभीर ऐक्टिविटी है और यह लाफ्टर चैलेंज नहीं है। जेटली ने राहुल द्वारा पीएम मोदी को गले लगाने पर भी तंज कसते हुए लिखा कि पब्लिक डिस्कोर्स को आप गले लगने, आंख मारने या इस तरह के लगातार झूठ बोलने तक सीमित नहीं कर सकते हैं।