एम्स से घर पहुंचा अरुण जेटली का पार्थिव शरीर, कल निगमबोध घाट पर होगा अंतिम संस्कार

arun house
एम्स से घर पहुंचा अरुण जेटली का पार्थिव शरीर, कल निगमबोध घाट पर होगा अंतिम संस्कार

नई दिल्ली। पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली का आज एम्स में निधन हो गया। अरुण जेटली के निधन के बाद राजनीतिक जगत में शोक की लहर है। बीजेपी नेता सुधांशु मित्तल के मुताबिक, रविवार दोपहर निगमबोध घाट में अंतिम संस्कार किया जायेगा। एम्स से उनके पार्थिव शरीर को कैलाश कॉलोनी स्थित आवास पर ले जाया जा रहा है।

Arun Jaitley To Be Cremated At Nigambodh Ghat On Sunday :

रविवार सुबह उनका पार्थिव शरीर बीजेपी मुख्यालय ले जाया जाएगा, जहां राजनीतिक दलों के नेता उन्हें अंतिम विदाई देंगे। बीजेपी मुख्यालय से पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए निगमबोध घाट ले जाया जाएगा। बता दें कि, भारतीय जनता पार्टी के नेता व पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली का एम्स में निधन हो गया है।

अरुण जेटली को 9 अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद से उनका उपचार वहां पर चल रहा था। अरुण जेटली को देखने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, बसपा सुप्रीमो मायावती समेत कई नेता पहुंचे थे। बता दें कि, वकील से राजनीतिज्ञ बने अरुण जेटली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में वित्त मंत्री थे।

नई दिल्ली। पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली का आज एम्स में निधन हो गया। अरुण जेटली के निधन के बाद राजनीतिक जगत में शोक की लहर है। बीजेपी नेता सुधांशु मित्तल के मुताबिक, रविवार दोपहर निगमबोध घाट में अंतिम संस्कार किया जायेगा। एम्स से उनके पार्थिव शरीर को कैलाश कॉलोनी स्थित आवास पर ले जाया जा रहा है। रविवार सुबह उनका पार्थिव शरीर बीजेपी मुख्यालय ले जाया जाएगा, जहां राजनीतिक दलों के नेता उन्हें अंतिम विदाई देंगे। बीजेपी मुख्यालय से पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए निगमबोध घाट ले जाया जाएगा। बता दें कि, भारतीय जनता पार्टी के नेता व पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली का एम्स में निधन हो गया है। अरुण जेटली को 9 अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद से उनका उपचार वहां पर चल रहा था। अरुण जेटली को देखने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, बसपा सुप्रीमो मायावती समेत कई नेता पहुंचे थे। बता दें कि, वकील से राजनीतिज्ञ बने अरुण जेटली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में वित्त मंत्री थे।